bhavesh patel 620x400

2007 में अजमेर दरगाह में ब्लास्ट कर मासूम बेगुनाहों की जान लेने के मामले में दोषी करार दिये जा चुके आतंकी भावेश पटेल का बीजेपी ने जमानत मिलने पर फूल-मालाओं से स्वागत किया। बता दें कि भावेश को उम्रकैद की सजा मिली हुई है।

अजमेर बलास्ट केस मामले में भरूच के रहने वाले भावेश पटेल और अजमेर के देवेंद्र गुप्ता को अगस्त 2017 में सजा सुनाई गई थी। पिछले हफ्ते राजस्थान हाई कोर्ट ने दोनों को जमानत दी। ये दोनों आरएसएस के प्रचारक रह चुके है। इस आतंकी हमले में तीन लोगों की मौत हो हुई थी और 15 घायल हुए थे।

रविवार को भरूच वापस लौटने पर रेलवे स्टेशन परभावेश पटेल का जमकर स्वागत किया। इतना ही नहीं इस आतंकी को जुलूस के साथ दांडियाबाज स्थित स्वामी नारायण मंदिर से हाथीखाना इलाके स्थित घर ले जाया गया। इस दौरान पटाखे फोड़े जा रहे थे। साथ ही डीजे भी बजाया जा रहा था।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस जुलूस में भाजपा के भरूच नगर पालिका के अध्यक्ष बीजेपी के सुरबबीन तामकुवाला, काउंसिलर मारुतिसिंह अतोदारीया, वीएचपी के विरल देसाई और स्थानीय आरएसएस के सदस्य भी शामिल थे।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, जस्टिस एम एन भंडारी और दिनेश चंद्र सोमानी की पीठ ने वकील मनोज शर्मा और अन्य के तर्क के बाद जमानत दी, जिसमे उन्होने कहा कि उन्हें परिस्थिति संबंधी सबूतों पर सजा सुनाई गई है। पिछले साल 22 मार्च को, देवेंद्र गुप्ता और भावेश पटेल को विशेष एनआईए अदालत ने आजीवन की सजा सुनाई थी और क्रमश 5000 रुपये और 10,000 रुपये जुर्माना लगाया।

Loading...