ajit111

सीबीआई के ज्वाइंट डायरेक्टर मनीष कुमार सिन्हा की सुप्रीम कोर्ट में याचिका ने हड़कंप मचा दिया है। सिन्हा ने याचिका में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजित डोभाल पर स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना की जांच में दखलंदाजी करने का आरोप लगाया।

सिन्हा ने आरोप लगाया है कि गिरफ्तार बिजनेसमैन मनोज प्रसाद ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल और केंद्रीय मंत्री हरिभाई पार्थीभाई चौधरी और सीवीसी केवी चौधरी का नाम लेकर राकेश अस्थाना के खिलाफ जांच को प्रभावित करने की कोशिश की।

Loading...

सिन्हा ने आरोप लगाया है कि जब जांच अधिकारी ए के बस्सी ने अस्थाना के सभी मोबाइल फोन जब्त करने और उनके घर पर छानबीन की मंजूरी मांगी तो सीबीआई डायरेक्टर ने इसकी मंजूरी देने के बजाए बताया कि NSA ने ऐसा करने से मना कर दिया है।

सीबीआई स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के खिलाफ लगे आरोपों की जांच कर रहे सिन्हा ने कोर्ट से मांग की है कि उनके नागपुर ट्रांसफर को रद्द किया जाए। इसके साथ ही सिन्हा ने अपनी याचिका में अस्थाना के खिलाफ दर्ज FIR पर SIT जांच की मांग की है।

वहीं सीबीआई के एक अन्य अधिकारी डिप्टी एसपी अश्वनी कुमार गुप्ता भी अपने तबादले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर चुके हैं। उनके मामले में तुरंत सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट ने मना कर दिया है।

अश्वनी कुमार गुप्ता का कहना है कि वो स्टर्लिंग बायोटेक सीबीआई मामले की जांच कर रहे थे, इस मामले में राकेश अस्थाना की भूमिका भी संदिग्ध है। उन्होंने आरोप लगाया है कि इसी कारण उनका तबादला किया गया है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें