लखनऊ | उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार में मंत्री रहे और समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता आजम खान ने मुस्लिमो से अपील की है की वो गाय से दूर रहे और हो सके तो डेरी उधोग के लिए भी गाय का इस्तेमाल न करे. आजम खान ने हाल फिलहाल में गौरक्षा के नाम पर हो रहे हमलो के बाद यह प्रतिक्रिया दी है. इससे पहले वो शंकराचार्य द्वारा तोहफे में दी गयी गाय को भी वापिस लौटा चुके है.

गौरक्षा के नाम पर देश में हो रही गुंडागर्दी से आहात नजर आये आजम खान ने कहा की अब एक डरावना माहौल बन गया है, जिसमें हर मुस्लमान गाय की तरफ देखने से भी डर रहा है. इसलिए मैं अपने मुस्लमान भाइयो से अपील कर रहा हूँ की वो अपनी सुरक्षा के लिए गायो से दूरी बना ले. क्योकि जिन्दगी आजीविका से ज्यादा महत्तवपूर्ण है. आजम खान ने मुस्लिमो से गाय को छूने से भी परहेज करने के लिए कहा है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा की फ़िलहाल के माहौल में गाय को छूने से भी डर का अनुभव होता है. इसलिए अगर कोई मुस्लिम भाई डेरी का बिज़नस कर रहा है तो या तो दूध के लिए गाय का इस्तेमाल न करे या अपना बिज़नस ही बदल ले. पिछले पांच दिनों में आजम खान ने गाय के ऊपर दूसरी बार प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने रविवार को गौरक्षा के नाम पर हो रही गुंडागर्दी का विरोध दर्ज करने के लिए एक अनूठा तरीका अपनाया था.

आजम खान ने दो साल पहले मथुरा शंकराचार्य द्वारा तोहफे में दी गयी काली गाय को वापिस लौटा दिया था. उस समय उन्होंने कहा था की मेरे विरोधी मुझे निशाना बनाने के लिए कुछ भी कर सकते है. ऊपर वाला न करे , लेकिन अगर कुदरती बीमारी की वजह से या किसी साजिश की वजह से गाय को कुछ हो गया तो कथित गौरक्षक पता नही उनके साथ क्या करेंगे?

Loading...