Monday, September 20, 2021

 

 

 

भारी मात्रा में कैश मिलने के बाद राष्ट्रपति ने वेल्लौर संसदीय क्षेत्र में किया चुनाव रद्द

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली: तमिलनाडु की वेल्लोर लोकसभा से भारी मात्रा में नकदी बरामद होने के बाद यहां चुनाव रद्द कर दिया है। इस बीच, तमिलनाडु में कथित तौर पर पैसे से वोट खरीदने के आरोपों से जुड़ी एक याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से जवाब मांगा है।

मतदान के दूसरे चरण में वेल्‍लौर में 18 अप्रैल को चुनाव होना था। चुनाव आयोग ने इस संबंध में अनुशंसा राष्ट्रपति को भेजी थी। चूंकि लोकसभा चुनाव की अधिसूचना राष्ट्रपति जारी करते हैं, ऐसे में चुनाव रद्द करना भी उन्हीं के अधिकार क्षेत्र में आता है। वहीं जिला पुलिस ने आयकर विभाग की शिकायत पर आरोपी उम्मीदवार कथिर आनंद और पार्टी के दो अन्य लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कर ली है।

30 मार्च को आयकर विभाग के अधिकारियों ने दुरई मुरुगन के घर पर चुनाव में अवैध पैसों के इस्तेमाल की शिकायत पर छापेमारी की थी और कथित तौर पर 10.50 लाख रुपये बरामद किये थे। वहीं, दो दिनों बाद दावा किया गया कि एक डीएमके नेता के ही गोदाम से 11.53 करोड़ रुपये बरामद किये गए।

पुलिस ने बताया कि आनंद पर अपने नामांकन पत्र के साथ दिए गए हलफनामे में ‘गलत सूचना’ देने के लिए जनप्रतिनिधि कानून के तहत आरोप लगाया गया। दो अन्य लोग श्रीनिवासन और दामोदरन के खिलाफ रिश्वत के आरोपों के तहत मामला दर्ज किया गया है।

चुनाव आयोग के दस्ते ने मंगलवार को कोयंबटूर में सुलूर के नजदीक जांच के दौरान एक कार से 1.41 करोड़ रुपये की नकदी जब्त की है। पुलिस ने बताया कि नकदी दो सूटकेस में भरी थी। कार में तीन लोगों को पकड़ा गया है। इनमें एक बैंक कर्मचारी और दो सुरक्षाकर्मी थे। उनके पास नकदी को लेकर पर्याप्त दस्तावेज नहीं थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles