rahul and akhilesh yadav 620x400

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजों के आधिकारिक रूप से सामने आने के बाद स्पष्ट हो गया है कि एमपी में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नही मिला है। राज्य में कांग्रेस बहुमत से दूर रह गई है। हालांकि बसपा और निर्दलीय विधायकों के समर्थन से कांग्रेस सरकार बनाने जा रही है।

इसी बीच समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि वह मध्य प्रदेश में कांग्रेस को अपना समर्थन देगें। यादव ने कहा कि मध्यप्रदेश में सरकार बनाने के लिए सपा कांग्रेस का समर्थन करती है। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ राज्यों के विधानसभा चुनाव परिणामों ने यह स्पष्ट कर दिया है कि जनता भाजपा के झूठे वादों और जाति-संप्रदाय की राजनीति से ऊब चुकी है।

Loading...

अखिलेश यादव ने बुधवार को ट्वीट किया कि समाजवादी पार्टी मध्य प्रदेश में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस का समर्थन करती है। मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को एक सीट मिली है। इससे पहले मंगलवार को चुनाव नतीजे आने के बाद यादव ने ट्वीट किया था कि अबकी बार खो दी सरकार। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 114 सीटें मिली हैं जो बहुमत के आंकड़े (116) से दो कम हैं।

kamal1

वहीं मायावती की बहुजन समाज पार्टी को 2 सीटें मिली है। इसके अलावा अन्य चार निर्दलीय ने भी कांग्रेस को अपना समर्थन दे दिया है। इन सभी की ओर से समर्थन की घोषणा के साथ ही प्रदेश में 15 साल बाद कांग्रेस के सत्ता में लौटने का रास्ता साफ हो गया है।

इन चार निर्दलीय उम्मीदवारों में सुसनेर विधानसभा सीट से विक्रम सिंह राणा भाई हैं। इन्हें 75804 वोट मिले हैं, वहीं यहां से दूसरे नंबर पर कांग्रेस के महेंद्र भैरू सिंह बापू रहे, जिन्हें 48742 वोट मिले हैं। दूसरे बुरहानपुर से ठाकुर सुरेंद्र सिंह नवल सिंह ‘शेरा भईया’ । इन्होंने शिवराज सरकार में मंत्री अर्चना दीदी को करीब छह हजार वोटों से हराया है. वहीं वारसिवनी से प्रदीप अमृतलाल जायसवाल 57783 वोटों के साथ जीते हैं। इनके अलावा चौथे निर्दलीय उम्मीदवार भगवानपुर से केदार छिड़ाभाई हैं, यहां दूसरे नंबर पर भाजपा के जमनासिंह सोलंकी 64042 रहे।

ऐसे में कांग्रेस का आंकड़ा बहुमत से ज्यादा हो जाएगा। अगर इन सबको मिला जाए तो कांग्रेस को आंकड़ा 121 पहुंच जाएगा। बता दें, मध्य प्रदेश में 230 सीटों में से 114 सीटें कांग्रेस और 109 सीटें भाजपा को मिली हैं. इसके अलावा बसपा को दो, सपा को एक और निर्दलीयों को चार सीटों पर जीत मिली है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें