Sunday, September 19, 2021

 

 

 

नोटबंदी के बाद अब सरकार ने प्लास्टिक नोट छापने का लिया फैसला, तैयारी शुरू

- Advertisement -
- Advertisement -

new-rs-2000-notes_99b6c128-afab-11e6-97d4-77e8d9863aa4

केंद्र सरकार की और से आज संसद में प्लास्टिक करंसी को लेकर जानकारी देते हुए कहा कि प्लास्टिक करंसी नोटों की छपाई का फैसला लिया जा चुका है और इसके लिए जरूरी मटीरियल जुटाने का काम शुरू हो गया है.

वित्त राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने जानकारी देते हुए कहा कि ‘प्लास्टिक या पॉलिस्टर की परत वाले बैंक नोटों की छपाई का फैसला लेते हुए मटीरियल की खरीद की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है.’ दरअसल, रिजर्व बैंक कई दिनों से प्लास्टिक करंसी नोट लाने पर विचार कर रहा है.

प्लास्ट‍िक से बने करेंसी नोट पेपर वाले नोटों की तुलना में साफ-सुथरे होते हैं. इन्हें पॉलीमर नोट भी कहा जाता है. प्लास्ट‍िक के नोटों की औसत उम्र करीब पांच साल होती है. यानी पेपर के नोटों की तुलना में दोगुना से ज्यादा. प्लास्ट‍िक नोटों की नकल उतारना भी आसान नहीं होता है.

कैसे होते हैं प्लास्ट‍िक के नोट,

एक अध्यययन के मुताबिक पेपर वाले नोट की तुलना में प्लास्ट‍िक नोट से ग्लोबल वार्मिंग में 32 फीसदी की कमी और एनर्जी डिमांड में 30 फीसदी की कमी आती है.

प्लास्ट‍िक वाले नोटों का वजन पेपर वाले नोटों की तुलना में कम होता है. ऐसे में इनका ट्रांस्पोर्टेशन और डिस्ट्रीब्यूशन भी आसान होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles