जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कहा कि वह देश विरोधी और देश की बर्बादी वाले नारे लगाने वालों के खिलाफ हैं. उन्होंने कहा, जिन लोगों ने ये नारे लगाए उन लोगों के खिलाफ चार्जशीट फाइल होनी चाहिए.

न्यूज़ 18 के चौपाल कार्यक्रम में हिस्सा लेते हुए कन्हैया ने कहा, जो संविधान के तहत है वही देश के हित में भी है और जो संविधान के विरोध में है वही देश विरोधी भी है. उन्होंने साफ कहा कि आजादी का कोई रंग नहीं होता है. इसी के साथ केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि केंद्र ने 17 प्रतिशत का हायर एजुकेशन का बजट कट किय़ा. ये साबित करता है कि सरकार हाशिए के लोगों को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रही है..

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 15 लाख रुपए वाले वादे पर तंज कसते हुए कहा कि  आपको तो पता नहीं है लेकिन मोदी से लड़ने के बाद मेरे खाते में 15 लाख रुपए आ गये हैं. जिसमें मैंने 3 लाख रूपये का टैक्स भी अदा कर दिया है. कन्हैया से एक पार्टी और विचारधारा के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैं किसी पार्टी से जुड़ा नहीं हूं. मैं देश में मौजूद असमानता और अव्यवस्था के खिलाफ आवाज उठाता हूं.

कन्‍हैया ने कहा, इस देश के अंदर आईआईटी में पढने वालों के लिए खाने की जरूरत होती है. अगर खाने की बात की जाये तो किसान की बातें आएंगी और हमारा आपका किसान का सबका योगदान होता है इस देश के विकास में

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?