नई दिल्ली | कांग्रेस ने शुक्रवार को, प्रधानमंत्री मोदी के बेहद नजदीकी मित्र उधोगपति गौतम अडानी पर हमला बोला. अडानी पर 50 हजार करोड़ रूपए का घोटाला करने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस ने मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की. कांग्रेस ने अडानी समूह की कंपनी पर ऊँचे दामो में ,विदेशो से बिजली उपकरण खरीदने का आरोप लगाया. सबूत के तौर पर कांग्रेस ने डीआरआई के नोटिस की एक कॉपी भी जनता के सामने रखी.

शुक्रवार को प्रेस वार्ता करते हुए कांग्रेस नेता अजय माकन ने अडानी समूह की पॉवर कंपनी पर 50 हजार करोड़ रूपए का घोटाला करने और रकम को मोरिसस स्थिति सहयोगी कंपनी के खाते में ट्रान्सफर करने का आरोप लगाया. अजय माकन ने राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) के नोटिस की कॉपी दिखाते हुए कहा की अडानी समूह ने विदेशो से वास्तविक कीमत से अधिक कीमत पर बिजली उपकरण खरीदे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अजय माकन ने आगे कहा की जिस कंपनी से बिजली उपकरण खरीदे गए वह भी अडानी समूह की सब्सिडियरी कंपनी है. सभी बिजली उपकरण वास्तविक कीमत से 860 फीसदी अधिक कीमत पर खरीदे गए. जबकि भुगतान होने पर कंपनी को उपकरणों की वास्तविक कीमत ही दी गयी. खरीदे गए सभी उपकरण सीधे भारत भेजे गए लेकिन इनवॉइस दक्षिण कोरिया और दुबई की सहयोगी कंपनियों के माध्यम से भारत भेजे गए. यहाँ उपकरण के बिलों में बदलाव कर कीमत ज्यादा दिखायी गयी.

कांग्रेस ने सबूत के तौर पर डीआरआई के नोटिस की प्रति दिखाते हुए कहा अडानी पॉवर ने उपकरणों की बढ़ी हुई कीमत आम जनता से वसूली. यहाँ बिजली के दामो में 2 फीसदी की बढ़ोतरी कर दी गयी. हम मांग करते है की आम उपभोगताओ पर लगने वाले इस अडानी टैक्स को हटाया जाए और मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा न्यायधिशो की देखरेख में सीबीआई के जरिये करायी जाए. कांग्रेस ने यह भी आरोप लगाया की अडानी समूह ने घोटाले की रकम को मोरिसस स्थिति अपनी सहयोगी कंपनी के अकाउंट में ट्रान्सफर किये.