नई दिल्ली. जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी हिंसा की जांच कर रही पुलिस टीम ने हमले में शामिल नाकाबपोश लड़की की पहचान कर ली है। हिंसा के वीडियो में नजर आई लड़की का नाम कोमल शर्मा है और वह दिल्ली यूनिवर्सिटी के दौलतराम कॉलेज की छात्रा है। वहीं एबीवीपी ने भी माना कि कोमल शर्मा उसके संगठन की सदस्य है।

हालांकि कोमल शर्मा ने राष्ट्रीय महिला आयोग को पत्र लिखकर कहा है कि वीडियो और तस्वीरों में हाथ में डंडे लेकर दिखाई देने वाली लड़की वो नहीं है। एनसीडब्ल्यू ने मामले को देखने के लिए मीडिया संस्थानों के साथ-साथ दिल्ली पुलिस को भी लिखा है।

वहीं पुलिस के अनुसार उन्होंने आईपीसी की धारा 160 के तहत छात्रा और दो अन्य लोगों अक्षत अवस्थी और रोहित शाह को नोटिस भेजा है। पुलिस ने कहा कि तीनों का पकड़ा जाना बाकी है। उनके फोन बंद हैं।

एबीवीपी दिल्ली के राज्य सचिव सिद्धार्थ यादव ने स्वीकार किया- कोमल संगठन की कार्यकर्ता है। जब से सोशल मीडिया पर तीनों के खिलाफ ट्रोलिंग शुरू हुई, तब से हमारा उनसे संपर्क नहीं हो पाया है। अंतिम बार पता चला था कि कोमल परिवार के साथ है।

उन्होने कहा, पुलिस से मिले नोटिस के बारे में भी उससे कोई बातचीत नहीं हो पाई है। आरोपों को लेकर जांच जल्द पूरी होनी चाहिए। संगठन खुद इस मामले में जांच कर रहा है कि 5 जनवरी को क्या हुआ था। हिंसा में हमारे भी कई कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट हुई है।

बता दें कि स्टिंग ऑपरेशन के दौरान अक्षत अवस्थी ने भी कोमल शर्मा का नाम लिया था। अक्षत ने ‘इंडिया टुडे’ के अंडर कवर रिपोर्टर से कहा था कि जेएनयू में हमला करने वाले लोगों को उसने ही इकट्ठा किया था और हमले का नेतृत्व भी किया था।

अक्षत ने कहा था, ‘कोमल शर्मा मैस में थी, जब साबरमती हॉस्टल में भीड़ पहुंची तो कोमल शर्मा भी मैस के अंदर जाने की कोशिश कर रही थी, मेरे वहां पहुंचने पर वह डर गई थी। उसने सोचा कि मैं भी वामपंथी छात्र संगठनों से जुड़ा हूँ। लेकिन मैंने उसे बताया, मैं तुम्हारी तरफ़ से हूं।’

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन