krim

krim

हरियाणा के सोनीपत में साल 1996 में हुए दो बम ब्लास्ट में आतंकी अब्दुल करीम टुंडा को दोषी करार दिया गया है. इस मामले में अदालत  कल यानी 10 अक्टूबर को सज़ा का ऐलान करेगी. अब्दुल करीम के खिलाफ चार लोगों ने गवाही दी है.

इस मामले में अब्दुल करीम टुंडा के अलावा दो और उसके साथियों को गिरफ्तार किया गया था. अब्दुल करीम को अगस्त 2013 में दिल्ली पुलिस ने भारत-नेपाल बॉर्डर से गिरफ्तार किया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सितंबर में हुई सुनवाई के दौरान उसने एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन जज डॉ. सुशील गर्ग की कोर्ट में अपने बयान में कहा था कि वह घटना के समय पाकिस्तान में था.

28 दिसंबर, 1996 को सोनीपत में हुए बम विस्फोट में करीब एक दर्जन लोग घायल हुए थे. पहला धमाका बस स्टैंड के पास स्थित तराना सिनेमा के पास हुआ था जबकि दूसरा धमाका दस मिनट बाद गीता भवन चौक पर.

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के पिलखुवा का रहने वाला अब्दुल करीब टुंडा 1980 में कभी होम्योपैथिक दवाइयों की दुकान चलाता था. वह केवल आठवीं क्लास तक पढ़ा है.

Loading...