सहारनपुर | तीन तलाक के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करने वाली आतिया साबरी के पति और ससुर को गिरफ्तार कर लिया गया है. आतिया के पति और ससुर के ऊपर उसको जान से मारने और दहेज़ उत्पीडन का आरोप है. दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया गया जहाँ से दोनों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया.

मालूम हो की उत्तर प्रदेश में बीजेपी की प्रचंड जीत के बाद सामने आई सहारनपुर की आतिया साबरी ने दावा किया था की उन्होंने विधानसभा चुनावो में बीजेपी को वोट दिया था. आतिया का कहना था की तीन तलाक के मुद्दे पर बीजेपी के रुख को देखते हुए उन्होंने बीजेपी को वोट दिया. अब चूँकि उनकी सरकार बन चुकी है इसलिए वो तीन तलाके के मुद्दे पर अपने वादे को निभाए.

आतिया का आरोप था की उसके पति ने उसको एक कागज़ पर तीन तलाक लिखकर तलाक दे दिया. तलाक की वजह बताते हुए आतिया ने कहा की दो लडकियों को जन्म देने की वजह से उसे तलाक दिया गया. यही नही 2015 में उसे जहर देखर मारने की भी कोशिश की गयी लेकिन पड़ोसियों ने उसकी जान बचा ली. इसके बाद से वो अपने मायके में रह रही है. मालूम हो की आतिया की शादी 2012 में हुई थी.

आतिया ने पुलिस में अपने ऊपर हुए अत्याचार की रिपोर्ट दर्ज कराई. करीब 15 दिन पहले अदालत ने आतिया के पति और ससुर के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किये थे. लेकिन तभी से दोनों फरार चल रहे थे. मंगलवार को हरिद्वार पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया जिसके बाद उन्हें सहारनपुर की अदालत में पेश किया गया. जहाँ से उन्हें न्यायिक हिरासत में भेद दिया गया. गौरतलब है की आतिया ने तीन तलाक के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में भी याचिका दाखिल की हुई है. जिस पर 30 मार्च को सुनवाई की जाएगी.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?