Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

लॉकडाउन में नौकरी जाने पर फांसी के फंदे से झूल गया युवक

- Advertisement -
- Advertisement -

कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए केंद्र की मोदी सरकार की और से पूरे देश में लगाए गए लॉकडाउन ने लाखों लोगों को बेरोजगार कर दिया है। नौकरी खोने के बाद अब युवा आत्महत्या को मजबूर है। इसी बीच राजधानी दिल्ली के रोहिणी इलाके में एक प्रवासी मजदूर ने पेड़ से लटककर फांसी लगा ली।

घटना गुरूवार को रोहिणी के सेक्टर 23 में बेगमपुर के पास हुई। युवक का नाम अंकित था। वह अपनी बहन और जीजा के साथ बुद्ध विहार में किराए के मकान में रहता था। पुलिस मामले की तहकीकात कर रही है। पुलिस के मुताबिक युवक कुछ साल पहले ही दिल्ली रोजी-रोटी कमाने आया था।

पुलिस के एक बड़े अधिकारी ने बताया, “हमें गुरूवार को दोपहर में इस घटना की सूचना मिली। मौके पर देखा कि एक डेडबॉडी पेड़ से लटक रही है। तुरंत लाश को कब्जे में लेकर उसे मॉर्चरी भेज दिया गया और उसके परिजनों को इसकी सूचना दी गई।”

परिवार ने पुलिस को बताया कि अंकित के पास पैसे नहीं बचे थे। पुलिस ने कहा कि परिवार ने उन्हें बताया कि वह बवाना में एक कारखाने में काम करता था, लेकिन हाल ही में लॉकडाउन के कारण उसकी नौकरी छूट गई थी। पुलिस अधिकारी ने बताया, “अंकित किसी बीमारी का इलाज करवा रहा था और इसके कारण उदास भी था। हमने उनकी जेब में 2,000 रुपये का एक मेडिकल बिल भी पाया।”

पुलिस के मुताबिक अंकित सुबह में ही घर से निकल गया था और कहा था कि वो दवाई खरीदने जा रहा है। बाद में लोगों ने देखा कि उसकी बॉडी पेड़ से लटकी हुई है। तब स्थानीय लोगों ने पुलिस को फोन किया। पुलिस ने उसकी शिनाख्त कर उसके परिजनों को बुलाया।

पुलिस ने बताया कि अंकित के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। हालांकि, पुलिस को मामले में कुछ संदिग्ध भी नजर नहीं आ रहा है। पुलिस के मुताबिक अंकित ने आर्थिक तंगी और स्वास्थ्य कारणों की वजह से ही आत्महत्या की होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles