Wednesday, January 19, 2022

सत्यपाल मलिक के तीखे बोल – लोग विधायक बनने के बाद पागल हो जाते हैं….

- Advertisement -

गोवा के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने राजनीति में नैतिकता के गिरते स्तर को लेकर चिंता जाहिर की। राजभवन की ओर से गांधीजी के 150वें जयंती वर्ष पर आयोजित कार्यक्रम में मलिक ने सत्ता में लालच और ताकत की चाहत का उदाहरण दिया।

सत्यपाल मलिक ने कहा कि राजनीति में महात्मा गांधी नैतिकता लेकर आए, लेकिन आज के समय में देश में यदि कोई विधायक ही बन जाता है, तो उसका दिमाग खराब हो जाता है। मलिक ने गांधी परिवार पर निशाना साधते हुए कहा कि गांधीजी के राजनीतिक वारिसों ने ही उनके गुणों को भुला दिया। उन्होने कहा, हमने गांधीजी को राममनोहर लोहिया की दृष्टि से जाना।

दिवंगत समाजवादी नेता राम मनोहर लोहिया को याद करते हुए सत्यपाल मलिक ने कहा कि “हम गांधी जी को राम मनोहर लोहिया के विजन से जानते हैं। लोहिया का मानना था कि गांधी जी की हत्या गोडसे द्वारा भले कर दी गई थी, लेकिन गांधी जी की राजनैतिक विरासत संभालने वाले लोगों ने गांधी जी की आत्मा को भी मार डाला। वह गांधी जी के गुणों को भूल गए और उन्हें सिर्फ एक चरखे की प्रतिमा तक समेट दिया।”

इससे पहले अंतरराष्ट्रीय भारतीय फिल्मोत्सव (इफ्फी) के समापन समारोह को संबोधित करते हुए सत्यपाल मलिक ने कहा था कि ‘हिंदुस्तान में सिर्फ वो नहीं हो रहा है जो दिखाया जा रहा है, बहुत कुछ हो रहा है दो दिख नहीं रहा है। हिंदुस्तान में अभी भी गुरबत है…बेरोजगारी है। शहरों में बैगपैक लटकाए हजारों लड़के रोजी-रोटी की तलाश में भटकते दिख जाएंगे। उनको हम कोई बढ़िया नौकरी गारंटी नहीं कर सकते’

मलिक ने आगे कहा, ‘किसानों की हालत भी ऐसी ही है। जवानों का तो मैं देख कर आया हूं। यहां बैठकर सब भाषण करते हैं कि हम जवानों के लिए ये हैं, हम वो हैं…आपके देश में तो ऐसे-ऐसे लोग हैं जिनके पास 14-14 मंजिल के मकान हैं। एक मंजिल में कुत्ता रहता है, एक में ड्राइवर रहता है और एक में कोई और…लेकिन एक पैसा भी चैरिटी नहीं करते हैं हिंदुस्तान की फौज के लिए’

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles