Sunday, August 1, 2021

 

 

 

90 लाख नौकरी खत्म, हर सेक्टर हुआ बर्बाद, फिर कैसे बढ़ रहा अंबानी-अडानी का व्यापार

- Advertisement -
- Advertisement -

देश में पिछले 6 साल में रोजगार में सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। एक नए अध्ययन के मुताबिक पिछले 6 साल में रोजगार में 90 लाख की गिरावट आई है। आजाद भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार है जब रोजगार में इस तरह की गिरावट की स्थिति का सामना करना पड़ा है।

इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने केंद्र की मोदी सरकार पर ज़ोरदार कटाक्ष किया है। इसके साथ ही उन्होने अंबानी-अडानी और जय अमितभाई शाह पर भी सवाल उठा दिये।

उन्होंने ट्विट किया, “90 लाख नौकरियां घटने, अभूतपूर्व बेरोज़गारी, कोर सेक्टर के उत्पादन में 5% की कमी, बैंकों और एनबीएफसी की नाकामी, उनके प्रमोटरों के पलायन के बीच एकमात्र कारोबार जो तेज़ी से बढ़ रहा है वह अंबानी / अडानी और जय अमितभाई शाह का है”।

बता दें कि अजीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी के सेंटर ऑफ सस्टेनेबल इम्प्लॉयमेंट की तरफ से प्रकाशित एक रिपोर्ट में में कहा गया है कि साल 2011-12 से 2017-18 के बीच भारत में रोजगार के अवसरों में कमी आई है। इस रिपोर्ट को संतोष मेहरोत्रा और जेके परिदा ने तैयार किया है।

मेहरोत्रा और परिदा के अनुसार साल 2011-12 से 2017-18 के बीच कुल रोजगार में 90 लाख की कमी आई है। भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है। संतोष मेहरोत्रा जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में आर्थशास्त्र के प्रोफेसर हैं। जबकि जेके परिदा सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ पंजाब में पढ़ाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles