भोपाल रेलवे स्टेशन पर गुरुवार सुबह नौ बजे प्लेफार्म नंबर 2 और 3 को जोड़ने वाले फुटओवर ब्रिज का एक हिस्सा नीचे आ गिरा। हादसे में 9 लोग घायल हो गए। घटना के बाद स्टेशन पर भगदड़ की स्थिति बन गई।

घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची और मामले को संभाला। घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। इस घटना में रेलवे की बड़ी लापरवाही सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि ब्रिज के जर्जर होने की शिकायत कई लोगों ने अधिकारियों से की थी, लेकिन इसे सुधारने के लिए कोई काम नहीं किया गया और अब यह हादसा हो गया।

प्रत्यक्षदर्शी कुली रावन राम ने बताया कि संपर्क क्रांति एक्सप्रेस के आने के बाद जैसे ही यात्री प्लेटफॉर्म नंबर 3 पर बने पुल पर चढ़े, पुल भरभराकर कैंटीन पर गिर गया। पुल पुराना और कमजोर था। हादसे में आधा दर्जन यात्री गंभीर रूप से घायल हो गए। एक वेंडर जो कैंटीन में था, वह भी घायल हुआ।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस घटना पर शोक जताया है। उन्होंने ट्वीट किया, “भोपाल रेलवे स्टेशन पर हुई दुर्घटना में दो लोगों की मौत होने का दुःखद समाचार मिला। ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि वे दिवंगत आत्माओं को शांति दें, उनके परिजनों को संबल प्रदान करें व घायलों को शीघ्र स्वस्थ करने की कृपा करें। मैं सरकार से मृतकों के परिजनों व घायलों को हरसंभव सहायता उपलब्ध कराने की मांग करता हूं।”

मध्य प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने हादसे पर कहा कि घायलों के इलाज की व्यवस्था की गई है। इस मामले में मध्य प्रदेश सरकार रेल मंत्रालय को पत्र लिखकर सभी रेलवे ब्रिजों की जांच करने की मांग करेगी।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन