पिंकसिटी जयपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में भीड़ जुटाने को लेकर भारी-भरकम खर्च किया गया है। राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार ने 33 जिलों से भीड़ एकत्रित करने के लिए 722 लाख रुपए खर्च किए है।

वसुंधरा सरकार ने 5579 बसें बुक की हैं जिन पर करीब 7.22 करोड़ रुपये खर्च हुए।आदेश के मुताबिक भीड़ को जयपुर लाने वाली बसों को 20 रुपये प्रति किलोमीटर का भुगतान करने का आदेश है।

इस खर्च को उज्जवला योजना के तहत पारंपरिक खाना पकाने की जगह एलपीजी सिलेंडर का आंशिक खर्चा तेल कंपनियों की ओर से वहन किया जायेगा। इतना ही नहीं रैली में शामिल होने वाली जनता के लिए ठहरने और खाने-पीने का इंतजाम भी किया गया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

bus spent 070618065859

इस मामले मे काँग्रेस ने भाजपा पर हमला बोला है। कांग्रेस प्रवक्ता आर पी एन सिंह ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मोदी की रैली पर करोड़ों रुपए खर्च किये गये। इसके लिए राजस्थान ही नहीं दिल्ली के अखबारों में भी विज्ञापन दिये गये लेकिन रैली में किसानों को नहीं जाने दिया गया।

सिंह ने कहा कि भाजपा सरकार को डर था कि परेशान किसान प्रधानमंत्री के समक्ष रैली में अपने गुस्से का इजहार कर सकते हैं क्योंकि किसानों के हित के लिए भाजपा सरकार ने कोई काम नहीं किया है। हाल ही में खरीफ फसलों का जो न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किया गया है उससे भी किसान संतुष्ट नहीं हैं।

Loading...