कोलकोता. सुपर साइक्लोन अम्फान (super Cyclone Amphan) से ओडिशा और पश्चिम बंगाल में भारी तबाही हुई है। अकेले पश्चिम बंगाल में ही अब तक 72 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बताया कि तूफान की वजह से बंगाल में 72 लोगों की मौत हुई है।

उन्होने कहा, राज्य में 5500 घर तबाह हो गए, हजारों करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि ऐसी तबाही कभी नहीं देखी। ममता ने कहा- मैं प्रधानमंत्री मोदी से अपील करूंगी कि वे खुद बंगाल आएं और यहां के हालात देखें। वहीं प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा- बंगाल में तूफान से हुई तबाही की तस्वीरें देखीं। पूरा देश मजबूती के साथ बंगाल के साथ खड़ा है। राज्य के लोगों की सलामती के लिए प्रार्थना कर रहा हूं। प्रभावितों की मदद में कोई कसर बाकी नहीं रखी जाएगी।

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी चक्रवाती तूफान अम्फान के कारण लोगों की मौत पर शोक जताया और समय रहते लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए पश्चिम बंगाल तथा ओडिशा के प्रशासन की सराहना की। उपराष्ट्रपति सचिवालय ने नायडू के हवाले से ट्वीट किया, ‘‘पश्चिम बंगाल तथा ओडिशा में चक्रवात के कारण हुई जानमाल की क्षति तथा सार्वजनिक और निजी संपत्ति व फसलों को हुए व्यापक नुकसान से व्यथित और चिंतित हूं।”

नायडू ने समय रहते लाखों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने और प्रभावित इलाकों में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के सहयोग से बचाव एवं राहत कार्य चलाने के लिए राज्य प्रशासनों की सराहना की। उन्होंने कहा, “जिन परिवारों ने इस आपदा में अपने स्वजनों को खोया है, उनके प्रति मेरी हार्दिक संवेदनाएं।”

कैबिनेट सेक्रेटरी राजीव गाबा ने गृह मंत्रालय के अफसरों  को निर्देश दिए हैं कि वह दोनों प्रदेशों के सरकार के संपर्क में रहें। किसी भी तरह की जरूरत पड़ने पर मदद करें। यह भी तय हुआ कि जल्द ही गृह मंत्रालय की एक टीम दोनों प्रदेशों का दौरा करेगी और तूफान से होने वाले नुकसान का आंकलन करेगी।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन