गोरखपुर | उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के संसदीय क्षेत्र गोरखपुर में बच्चो की मौत का सिलसिला बदस्तूर जारी है. हाल ही में 9 अगस्त से 11 अगस्त के बीच 70 बच्चो की मौत का कारण बना बीआरडी मेडिकल कॉलेज , एक बार फिर इन्ही कारणों से सुर्खियों में है. यहाँ पिछले 72 घंटो में 61 बच्चो की मौत हो चुकी है. अस्पताल प्रशासन एक बार फिर इंसेफलाइटीस के आगे फेल नजर आ रहा है.

अस्पताल अधिकारियो के अनुसार पिछले 72 घंटो में 61 बच्चे मौत के काल में समा चुके है. इनमे से 42 बच्चो की मौत तो पिछले 48 घंटो के दौरान ही हुई है. इनमे 11 बच्चे की मौत इंसेफलाइटीस की वजह से हुई जबकि एनआईसीयु में भर्ती 25 नवजात बच्चे और चिकित्सा वार्ड में भर्ती 25 बच्चो की मौत हुई. अधिकारियो का कहना है की ज्यादातर बच्चे इंसेफलाइटीस के अलावा न्योमोनिया और सेप्सिस जैसी बीमारियों से पीड़ित थे.

स्थानीय डॉक्टरों का कहना है की गोरखपुर में पिछले कुछ दिनों से हुई बारिश और बढ़ की वजह से यहाँ इंसेफलाइटीस बड़ी तेजी से फेल रहा है. इसके अलावा यहाँ के आसपास के लोग तभी बच्चो को अस्पताल लेकर आते है जब उनकी स्थिति बेहद गंभीर हो जाती है. इस वजह से भी अस्पताल प्रशासन पर काफी दबाव रहता है. अगस्त महीने में अकेले बीआरडी मेडिकल कॉलेज में मरने वाले बच्चो की संख्या 130 पार कर चुकी है.

बताते चले की इसी महीने की 9, 10 और 11 अगस्त को बीआरडी अस्पताल में ही करीब 70 बच्चो की मौत से पुरे देश में हडकंप मच गया. बताया गया की ज्यादातर बच्चो की मौत ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित होने की वजह से हुई. हालाँकि यूपी सरकार ने इस बात से इनकार करते हुए दलील दी थी की हर साल अगस्त महीने में इस तरह की मौते होती है. सरकार की और से इस तरह का असंवेदनशील बयान के बाद पूरा विपक्ष सरकार के खिलाफ आक्रमक हो गया. फ़िलहाल इस मामले में अस्पताल के प्रिंसिपल को गिरफ्तार किया गया है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?