अमेरिकी अखबार का दावा – ग्लवान घाटी में भारतीय सैनिकों के हाथों मारे गए थे 60 चीनी सैनिक

अमेरिकी अखबार ‘Newsweek’ ने बीते दिनों ग्लवान घाटी में भारतीय सैनिकों और चीनी सैनिकों के बीच हुए खूनी संघर्ष को लेकर बड़ा खुलासा किया है। अखबार ने दावा किया कि इस खूनी संघर्ष में भारतीय सैनिकों के हाथों 60 चीनी सैनिक मारे गए थे।

अमेरिकी अखबार में लिखा गया है कि ‘ग्लवान घाटी में घुसपैठ कर चीन ने भारत को चौंकाया। चीनी सैनिकों ने 20 भारतीय जवानों की हत्या कर दी। 45 सालों में यह दोनों देशों के बीच पहली इतनी खौफनाक जंग थी। चीन इस विवादित जमीन पर इसलिए इस तरह कब्जा करना चाहता था क्योंकि उसे लगता था कि भारतीय सेना और यहां के नेता 1962 की जंग के बाद से मानसिक रुप से परेशान हैं और सिर्फ अपनी सुरक्षा पर ही उनका ध्यान है, लेकिन वो परेशान नहीं हैं। भारतीय सैनिकों ने वहां पलटवार किया और उनके 60 सैनिकों को मार गिराया। इनकी संख्या ज्यादा भी हो सकती है। बीजिंग यह कभी स्वीकार नहीं करेगा।’

आगे कहा गया कि ऊंची पहाड़ियों पर भारत ने अपनी स्थिति मजबूर कर ली है। चीन की जमीनी सेना के पास हथियार है और उनके पास बेहतरीन ट्रेनिंग भी है लेकिन युद्ध के मैदान में वो भारतीय सैनिकों के सामने कमजोर पड़ जाएंगे। भारत अब चीन को यह मौका नहीं देगा कि वो वहां अपनी स्थिति मजबूत कर ले।

आलेख में कहा गया, ‘अगस्त के महीने में चीनी सैनिकों को पीछे धकेलने में भारतीय सैनिकों ने जो ताकत दिखाई वो 50 सालों के बाद देखने को मिली है। जब भारतीय सैनिकों ने उन्हें ऊंची पहाड़ियों से पीछे धकेला तो चीनी सैनिक दंग रह गए और उन्हें आखिरकार पीछे हटना पड़ा।

बता दें कि चीनी सैनिकों के साथ इस संघर्ष में 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे। इस घटना के बाद से ही दोनों देशों में तनाव चरम पर है। कई वार्ताओं के बाद भी फिलहाल सीमा पर हालात में कोई खास सुधार देखने को नहीं मिला है।

विज्ञापन