Friday, September 17, 2021

 

 

 

रेलवे का अजीबोगरीब कारनामा – 5457 चूहों के मारने पर आया डेढ़ करोड़ रुपये का खर्च

- Advertisement -
- Advertisement -

भारतीय रेलवे यात्रियों के लिए सुविधा कम परेशानियों के लिए ज्यादा चर्चा में रहता है।भारतीय रेलवे अब एक बार फिर से अपने अजीबोगरीब कारनामे के लिए चर्चा में है। दरअसल रेलवे ने  5457 चूहों के मारने पर डेढ़ करोड़ रुपये खर्च कर डाले।

आरटीआई से मिली जानकारी के अनुसार, पश्चिम रेलवे ने पिछले तीन सालों में 1.52 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। तीन सालों में पश्चिम रेलवे ने रोडेंट कंट्रोल के लिए 1,52,41,689 रुपये खर्च किए हैं। यदि इसे प्रत्येक दिन के हिसाब से बांटे, तो रोजाना औसतन 14 हजार रुपये खर्च हो रहे हैं। इतने रुपये खर्च करने के बाद रोजाना औसतन 5 चूहे मरे हैं।

indian railway

इन आंकड़ों से यह भी साबित होता है कि रेलवे ने एक चूहा मारने में  28 हजार रुपए खर्च कर दिए। रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि यहां सवाल करोड़ों रुपये खर्च करके चूहे मारने का नहीं है। यह खर्च रेलवे को नुकसान से बचाने के लिए हो रहा है।

उन्होने कहा, यदि रोडेंट कंट्रोल नहीं होगा, तो चूहे यात्रियों का सामान काट देंगे। अधिकारी ने बताया कि यदि ट्रेनों में खाने-पीने का सामान नहीं बिखेरा जाएगा, सफाई रहेगी, तो चूहों पर नियंत्रण करने में आसानी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles