Tuesday, January 25, 2022

IAS अशोक खेमका का 53वां ट्रांसफर, ट्वीट कर कहा – ईमानदारी का इनाम जलालत

- Advertisement -

हरियाणा में कार्यरत आईएएस अशोक खेमका का उनके 28 साल के करियर में 53वीं बार तबादला कर दिया गया है। उन्हें अभिलेखागार,पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग में प्रमुख सचिव बनाया गया है। इससे पहले वे विज्ञान एवं तकनीकी विभाग के प्रमुख सचिव पद पर कार्यरत थे। खेमका का यह तबादला करीब 8 महीने बाद हुआ।

1991 बैच के अशोक खेमका का तबादला इससे पहले मार्च 2019 में हुआ था। अभिलेखागार विभाग भाजपा की राज्यमंत्री कमलेश ढांडा के पास जबकि पुरातत्व और संग्रहालय विभाग जजपा के राज्यमंत्री अनूप धानक के पास है। आईएएस खेमका को काफी समय से किसी बड़े विभाग की जिम्मेदारी नहीं दी गई है।

बुधवार को उन्होंने इसी बाबत ट्वीट किया। लिखा, “फिर तबादला। लौट कर फिर वहीं। कल संविधान दिवस (26 नवंबर) मनाया गया। आज सर्वोच्च न्यायालय के आदेश और नियमों को एक बार और तोड़ा गया। कुछ प्रसन्न होंगे। अंतिम ठिकाने जो लगा। ईमानदारी का ईनाम जलालत।”

गौरतलब है कि सीनियर आइएएस अधिकारी अशोक खेमका की गिनती बेहद ईमानदार अधिकारियों में होती है। वह गुरुग्राम में सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा की जमीन सौदे से जुड़ी जांच के कारण सुर्खियों में रहे हैं। उनके बारे में कहा जाता है कि वह जिस विभाग में जाते हैं, वहीं घपले-घोटाले उजागर करते हैं, जिसके चलते अक्सर उन्हें ट्रांसफर का दंश झेलना पड़ता है। वह भूपिंदर सिंह हुड्डा के शासनकाल में भी कई घोटालों का खुलासा कर चुके हैं।

भाजपा से पहले कांग्रेस की हुड्डा सरकार में भी खेमका का 22 बार ट्रांसफर हुआ था। वह जिस भी विभाग में जाते हैं, घोटाले के मामले उजागर करते रहे हैं। खेल विभाग से पहले उन्होंने समाज कल्याण विभाग में फर्जीवाड़े की आशंका पर 3 लाख से ज्यादा बुजुर्गों की पेंशन रोक दी थी। इससे पहले बीज विकास निगम में भी घोटाला पकड़ा था।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles