दिल्ली: अमेरिकी दूतावास में पांच वर्षीय मासूम से दरिंदगी

देश की राजधानी में स्थित अमेरिकी दूतावास परिसर में एक पांच वर्षीय बच्ची से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। बच्ची की हालत खराब होने पर परिजनों ने बच्ची को निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से उसे एम्स रेफर कर दिया गया।

जानकारी के अनुसार, अमेरिकी दूतावास परिसर में रहने वाले 25 वर्षीय युवक ने पड़ोस में रहने वाली पांच साल की मासूम बच्ची से दुष्कर्म कर दिया। युवक ने बच्ची को अपने क्वार्टर में ले जाकर वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर उसे कोर्ट में पेश किया। अदालत ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

आरोपित विक्की ड्राइवर की नौकरी करता था। एक ही परिसर में रहने के कारण बच्ची आरोपित को चाचू कहकर बुलाती थी। परिजनों का आरोप है कि शुरू में पुलिस ने मामले में कार्रवाई करने से टालमटोल किया, बाद में दबाव पड़ने पर केस दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार किया।

एक फरवरी को विक्की के पिता राजकुमार दूतावास में काम करने गए हुए थे जबकि मां गाजियाबाद स्थित अपने घर गई थी। इस दौरान दोपहर मासूम दूतावास में क्वार्टर के बाहर खेल रही थी। उसके माता-पिता घर में थे। तभी विक्की बच्ची को अपने क्वार्टर में ले गया और उससे दुष्कर्म किया।

किसी तरह घर पहुंची बच्ची ने पहले तो कुछ नहीं बताया, लेकिन जब दर्द सहा न गया तो रोने लगी। उसकी मां ने देखा तो उसके कपड़े खून से सने थे। इसके बाद उसने माता-पिता को सारी बात बताई। वे पहले उसे पास के निजी अस्पताल में ले गए, जहां स्थिति गंभीर होने के कारण उसे एम्स रेफर कर दिया गया। एम्स से ही इसकी सूचना चाणक्यपुरी थाना पुलिस को मिली। इस घटना से बच्ची को मानसिक आघात पहुंचा है और वह सदमे में चली गई है।

विज्ञापन