देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआई में मचे बवाल के बाद अब ये संकट और गहरा गया है। दरअसल, गुरुवार को  छुट्टी पर भेजे गए डायरेक्टर आलोक वर्मा के घर के बाहर से 4 लोगों को पकड़ा गया। ये सभी IB (Intelligence Bureau) के कर्मचारी है।

जानकरी के अनुसार, सुबह करीब 7 बजे चार लोगों को आलोक वर्मा के घर पर खड़े सुरक्षागार्ड ने पकड़ा। जब छानबीन की गई तो उनके पास से  के कार्ड मिले। हालांकि, दोपहर होते-होते इन सभी को छोड़ दिया गया। ये काफी देर से सीबीआईनिदेशक के घर के बाहर खड़े थे अौर घर में आने-जाने वालों और अन्‍य गतिविधियों पर नजर बनाए हुए थे। हालांकि अभी तक इनके बारे में कुछ भी पता नहीं लग पाया है।

ये चार लोग दो गाड़ी में आए थे और आलोक वर्मा के घर के बाहर खड़े थे। सुरक्षागार्ड ने संदिग्ध गतिविधि करने के शक में इन्हें पकड़ा और बाद में दिल्ली पुलिस को बुलाकर उनके हवाले कर दिया। दिल्ली पुलिस की पूछताछ में ही ये सामने आया कि इनके पास आईबी के कार्ड हैं।

इस मामले में आइबी की ओर से बताया गया कि सीबीआई के डायरेक्‍टर आलोक वर्मा के 2 जनपथ स्थित घर के पास से वर्मा के पीएसओ ने जिन 4 लोगों के साथ संदिग्‍ध समझकर बदसलूकी की, वे आइबी का स्‍टाफ है। जनपथ हाई सिक्‍योरिटी जोन में आता है, इसलिए आइबी का स्‍टाफ वहां हमेशा रहता है। आइबी का कहना है कि आलोक वर्मा को लेकर कोई जासूसी नहीं की जा रही थी।

बता दें कि सीबीआई ने अपने ही विशेष निदेशक (डायरेक्टर) राकेश अस्थाना के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। उनपर एक कारोबारी सतीश बाबू सना से रिश्वत लेने का आरोप है। यह मामला मीट कारोबारी मोइन कुरैशी से जुड़ा हुआ है। वहीं, अस्थाना ने भी पलटवार करते हुए सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा पर रिश्वत लेने का आरोप लगाया।

इस मामले में एजेंसी ने सीबीआई के डीएसपी देवेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया है। डीएसपी देवेंद्र कुमार को राकेश अस्थाना का करीबी माना जाता है। सीबीआई ने उनके घर पर छापा मारकर आठ मोबाइल फोन और एक आईपैड जब्त किया है। साथ ही मोइन कुरैशी मामले से जुड़े कुछ दस्तावेज भी बरामद हुए हैं।

Loading...
विज्ञापन