शिमला– प्रधानमत्री मोदी ने जिस अटल टनल का उद्घाटन किया था वो सुरंग आज फिर से चर्चाओं में आ गयी है, लेकिन इस बार चर्चा में रहने के कारण कुछ अलग है. गौरतलब है की उद्घाटन के बाद आवाजाही शुरू हो गयी थी लेकिन इस आवागमन से हादसों का सिलसिला भी शुरू हो गया है. लगभग 9 किलोमीटर लम्बी यह सुरंग विश्व की सबसे लम्बी टनल है.

खबर यह है की पिछले 24 घंटों में इस टनल में 3 बड़े हादसे हो चुकें हैं, हादसों का कारण सुरंग में लोगो का सेल्फी लेना बताया जा रहा है.

सरहदी रोड तंज़ीम (BRO) ने एक दहाई में सख्त मेहनत के बाद 10 हज़ार फीट की ऊंचाई पर सुरंग की तामीर की है. बीआरओ ने मक़ामी अफसरान को टनल में मोटर ड्राईवरों की निगरानी के लिए पुलिस तैनात नहीं करने का इल्ज़ाम लगाया है. हालांकि बीआरओ के ऐतराज़ के बाद राज्य पुलिस को पुलिस को तैनात कर दिया है.

ब्रिगेडियर केपी पुरुषोत्तम ने बताया, ” पीएम मोदी ने 3 अक्टूबर को टनल का उद्घाटन किया और उसके बाद एक दिन में ही तीन हादसे हुए. टनल के अंदर टूरिस्ट और ड्राईवर नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं. सीसीटीवी से पता चला है कि लोगों नें गाड़ी से सेल्फी लेने के लिए टनल के अंदर अपनी गाड़ियों को रोक दिया, जबकि टनल के अंदर किसी को गाड़ी खड़ी करने की इजाज़त नहीं है.” उन्होंने बताया कि सुरंग को डबल लेन किए जाने के बावजूद ओवरटेक करने की इजाज़त भी नहीं है.