हज के मुकद्दस सफर पर जाने वाले आजमीन को अब प्रत्येक को 2 लाख 1 हजार रुपए की राशि केंद्रीय हज कमेटी को जमा करानी होगी। यह राशि दो किस्ताें में होगी और पहली किस्त 81 हजार रुपए की 18 जनवरी से जमा करानी होगी। इस संबंध में केंद्रीय हज कमेटी ने दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।

खादीमुल हुज्जाज हाजी मोहम्मद महमूद खान ने बताया कि जिन आजमीन का कुर्रा में नंबर आ चुका है, उन्हें अग्रिम हज राशि के रूप में 81 हजार रुपए प्रत्येक जमा करना आवश्यक है। इसके बाद l लाख  20 हजार रुपए प्रत्येक आजमीन को जमा करना आवश्यक है।

अनंतिम रूप से चयनित सभी तीर्थयात्रियों को सलाह दी जाती है कि वे 5 फरवरी, 2019 से पहले, 81 हजार रुपए का भुगतान करें। यदि कोई आजमीन यह राशि जमा नहीं कराता है, तो उसकी हज सीट रद्द कर दी जाएगी। 1 लाख 20 हजार की किस्त 20 मार्च से पूर्व जमा करनी होगी।

भुगतान या तो Http://hajcommittee.gov.in पर ऑनलाइन किया जा सकता है। या फिर हज कमेटी ऑफ इंडिया के खाते में बैंक के माध्यम से जमा कराई जा सकती है।

एयर फेयर की तीसरी किस्त मई-जून में

आजमीन ए हज के लिए तीसरी किस्त डॉलर में एयरफेयर राशि, सऊदी रियाल में सऊदी खर्चों के लिए निविदा को अंतिम रूप देने के बाद तय की जाएगी। यह राशि मई के मध्य से जून के मध्य तक देय होगी। संबंधित इम्बार्केशन और आवास श्रेणी के लिए हज -2019 के खर्च का ब्योरा वेबसाइट  पर जारी किया जाएगा।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें