zain

बिहार के सीतामढ़ी में पिछले 20 अक्टूबर को हुई दो समुदायों के बीच हुई हिंसक झड़प में जैनुल अंसारी (82) को जलाकर मार दिया था। इस मामले में पुलिस ने अब 13 लोगों को गिरफ्तार किया है। छह अन्य की तलाश जारी है। इन 13 लोगों में वह शख्स भी शामिल है, जो हत्या के वक्त बुजुर्ग का हाथ पकड़े हुए दिखा था।

दरअसल, दशहरा के एक दिन बाद दुर्गा मूर्ति विसर्जन के दौरान सीतामढ़ी के मुस्लिम बहुल इलाके में कथित तौर पर पत्थरबाजी हुई थी। पुलिस ने जुलूस को इस इलाके से न निकालने की पहले ही चेतावनी जारी की थी। लेकिन फिर भी इलाके से जुलूस निकाला गया। जिसके बाद दो समुदायों में हिंसा फ़ेल गई।

इसी दिन जैनुल अंसारी (82) बहन से मिलकर आ रहे थे जो शहर से तकरीबन 7 किलोमीटर दूर था। वह साइकिल से घर वापस आ रहे थे। तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए स्‍थानीय लोगों ने उन्‍हें न जाने की सलाह भी दी थी। उन्‍होंने उनमें से एक को कहा था कि बुजुर्ग व्‍यक्ति का कोई क्‍या करेगा? कुछ घंटों के बाद उनका जला हुआ शव बरामद हुआ था। उनकी दोनों बांहें और पैर बुरी तरह जले हुए थे।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

post-office-employee-arrested-by-police-for-spying-for-pakistan

सीतामढ़ी पुलिस ने इस मामले में 13 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया है। इन 13 लोगों में छोटू राउत नामक शख्स भी शामिल है। सीतामढ़ी टाउन थाने के इंचार्ज शशिभूषण सिंह ने बताया, “छाेटू राउत वह व्यक्ति है जो वीडियो में घटनास्थल गौशाला चौक के समीप जैनुल अंसारी का हाथ पकड़े हुए दिख रहा था। इसी जगह से अंसारी का अधजला शव बरामद हुआ था।”

थाना इंचार्ज ने आगे कहा, “गिरफ्तार किए गए सभी युवकों की उम्र 20 साल के आसपास है और वे बेरोजगार हैं। वे स्थानीय हैं। इस घटना का मास्टरमाइंड कोई और हो सकता है जो मौके पर नहीं देखा गया। हालांकि, गिरफ्तार किए गए किसी युवक का कोई अपराधिक इतिहास नहीं है।” पुलिस वीडियो फुटेज और फोटो के आधार पर छह अन्य लोगों की भी तलाश कर रही है।

अंसारी के बेटे अशरफ ने कहा, “मैंने पुलिस से संपर्क कर पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सुधार करने को कहा है, जिसमें मेरे पिता की उम्र 35 साल लिख दी गई है। इस मामले में कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस को इस घटना के किंगपिन की तलाश करनी चाहिए।”

इसके जवाब में थाना इंचार्ज शशिभूषण सिंह ने कहा, “हमने अंसारी के डीएनए सैंपल को पुष्टि के लिए भेज दिया है। हम पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सुधार कर लेंगे। डॉक्टर को उनकी उम्र 85 साल लिखने को कहा गया था, लेकिन गलती से 35 साल लिख दिया गया।”

Loading...