Tuesday, June 28, 2022

मन्नान वाणी मामले में एमएमयू के 1200 छात्रों का बग़ावती रूख, दी यूनिवर्सिटी छोड़ने की धमकी

- Advertisement -

अलीगढ़ । अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के क़रीब 1200 छात्रों ने बग़ावत कर दी है। आतंकी मन्नान वानी के एंकाउंटर के बाद एएमयू में हुए कार्यक्रम को देशद्रोह से जोड़ते हुए जिन दो छात्रों के ख़िलाफ़ कार्यवाही की गयी उनके पक्ष में क़रीब 1200 छात्र सामने आए है। इन्होंने दोनो छात्रों के ऊपर लगाए गए देशद्रोह के मुक़दमे को वापिस लेने की माँग की है। ऐसा न होने पर 1200 छात्रों ने अपनी डिग्री सरेंडर करने की धमकी दी है।

एएमयू के पूर्व छात्र नेता सज्जाद सुभान राथर ने यूनिवर्सिटी प्रशासन और अलीगढ़ के एसएसपी को चिट्ठी लिखकर अपनी माँगे उनके सामने रखी है। सज्जाद का कहना है की आतंकी मन्नान वाणी के एंकाउंटर के बाद यूनिवर्सिटी के कैनेडी हॉल में एक कार्यक्रम आयोजित हुआ था। इसमें क़रीब 15 छात्रों ने हिस्सा लिया। यह कार्यक्रम कश्मीर में बढ़ती हिंसा और वहाँ हो रही मौतों के ऊपर आयोजित किया गया था।

सज्जाद ने आगे बताया की कुछ लोगों ने इस कार्यक्रम को यह कहकर प्रचारित कर दिया की वहाँ कुछ छात्र मन्नान वाणी के जनाज़े की नमाज़ पढ़ रहे है। इसके बाद एएमयू के सुरक्षाकर्मियों ने उन छात्रों पर लाठीचार्ज कर दिया। यही नही यूनिवर्सिटी प्रशासन ने दो छात्रों को निलम्बित कर दिया और उनके ऊपर देशद्रोह का मुकदमा भी लगाया गया। हमारी माँग है की उन छात्रों पर से यह मुकदमा वापिस हो।

सज्जाद ने धमकी देते हुए कहा कि ऐसा न होने पर क़रीब 1200 छात्र अपनी डिग्री सरेंडर कर देंगे। सज्जाद ने यह भी बताया की यूनिवर्सिटी में पढ़ रहे कश्मीरी छात्रों में भय का माहौल है। बताते चले की मन्नान वाणी एएमयू से पीएचडी कर रहा था। इसी साल जनवरी में वह पढ़ाई छोड़कर आतंकी संगठन हिज़्बुल मुजाहिद्दीन में शामिल हो गया। इसके बाद 11 अक्टूबर को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में वह मारा गया।

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles