Thursday, October 21, 2021

 

 

 

दिल्ली दंगों में मरने वालों में थे 12 हिंदू और 40 मुसलमान, दिल्ली पुलिस ने हलफनामे में बताया

- Advertisement -
- Advertisement -

नागरिकता कानून से जुड़े विरोध-प्रदर्शनों के दौरान भड़के मुस्लिम विरोधी दंगों में 12 हिंदू और 40 मुसलमानों ने अपनी जान गवाई है। इस बात की जानकारी खुद दिल्ली पुलिस ने हलफनामे में दिल्ली हाईकोर्ट को दी है।

जनसत्ता के अनुसार, 13 जनवरी को दिये इस हलफनामे में बताया गया कि मरने वाले कुल 52 लोगों में 12 लोग हिंदू थे। वहीं शेष 40 लोग मुस्लिम समुदाय से थे। इन दंगों में दिल्ली पुलिस के एक कर्मी कॉन्स्टेबल रतन लाल की भी जान चली गई थी। रतनलाल की मौत गोली लगने से हुई थी।

इस तरह दिल्ली दंगों में जान गंवाने वालों में दो तिहाई लोग मुस्लिम समुदाय के थे। दिल्ली पुलिस ने अपने हलफनामे में हिंदुओं और मुस्लिमों के घरों और दुकानों को हुए नुकसान का अलग-अलग ब्यौरा भी दिया। दंगों में जिन घरों और दुकानों को नुकसान पहुंचा है उनमें भी अधिकतर मुस्लिम समुदाय के लोगों से संबंधित हैं।

दिल्ली पुलिस ने बताया है कि दंगों में 6 मंदिर और 13 मस्जिदों को नुकसान पहुंचा। जबकि पिछले महीने ही एक आरटीआई के जवाब में यह बताया गया था कि दंगों में 11 मस्जिद, मदरसों व दो मंदिरों के नुकसान की बात बताई थी। अब मंदिरों के नुकसान का आंकड़ा कैसे बढ़ गया।

इसके अलावा पुलिस ने एक अलग से सूची भी दी है। इस सूची में 473 लोगों के घायल होने की बात कही है। इन सभी लोगों के नाम और पिता का नाम भी दिया गया है। इन लोगों का धर्म तो नहीं बताया गया। लेकिन नाम से पता लगता है कि इनमें भी घायलों में 45 फीसदी हिंदू और 55 फीसदी मुस्लिम समुदाय के लोग हैं। सूची में 108 पुलिसकर्मियों के घायल होने का भी जिक्र है। पुलिस ने दंगों में 185 घरों के नुकसान की जानकारी अदालत में दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles