देश की जनता प्याज के आंसू रोने को मजबूर है। प्याज पर हंगामे के बाद एक बार फिर मोदी सरकार की नींद टूटी है। आसमान छूते प्याज के दाम को काबू करने के लिए सरकार 11 हजार टन प्याज तुर्की से मंगाने का फैसला किया है।

दरअसल, एमएमटीसी ने तुर्की से 11 हजार टन प्याज मंगाने का करार किया है। इसके तहत अगले साल जनवरी से प्याज की खेप मिलने की शुरुआत की उम्मीद है। मिस्र से 6,090 टन प्याज इस महीने के दूसरे सप्ताह में मुंबई के जवाहर नेहरू पोर्ट टर्मिनल पर पहुंच सकता है।

गौरतलब है कि पिछले महीने 20 नवंबर को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 1.2 लाख टन प्याज का आयात करने के सरकार के फैसले को मंजूरी दी थी। प्याज के दाम की निगरानी के लिए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में मंत्रियों का एक समूह बनाया गया है जिसमें वित्तमंत्री, उपभोक्ता मामलों के मंत्री, कृषि मंत्री और सड़क परिवहन मंत्री बतौर सदस्य शामिल हैं।

बाजार से मिली जानकारी के अनुसार, दिल्ली-एनसीआर में रविवार को प्याज का खुदरा भाव 80-120 रुपये प्रति किलो था। वहीं, दिल्ली की आजादपुर मंडी एपीएमसी की कीमत सूची के अनुसार, देश की राजधानी में शनिवार को प्याज का थोक भाव 20-62.50 रुपये प्रति किलो था जबकि आवक 828 टन थी।

केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री राम विलास पासवान ने बीते महीने एक प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि इस साल खरीफ सीजन में बारिश के कारण फसल खराब होने के कारण प्याज के उत्पादन में 26 फीसदी की गिरावट आने की संभावना है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन