पालघर मॉब लिंचिंग पर बोले गृह मंत्री देशमुख – ‘101 आरोपियों में एक भी मुस्लिम नहीं

पालघर मॉब लिंचिंग मामले में  महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने पालघर मामले में पकड़े गए 101 आरोपियों की लिस्ट जारी कर  पालघर हिंसा को धार्मिक रंग दिया जा रहा है, जो बिल्कुल गलत है। उन्होने बताया, मामले में 101 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है जिनमें से एक भी मुस्लिम नहीं है।

फेसबुक के माध्यम से अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्य है कि पालघर मामले पर सांप्रदायिक राजनीति हो रही है। बिना नाम लिए उन्होंने कहा कि कुछ लोग मुंगेरी लाल के हसीन सपने देख रहे हैं। यह राजनीति करने का समय नहीं है, बल्कि मिलकर कोरोना वायरस से लड़ने का वक्त है।

उन्होंने बताया, ‘वीडियो में आवाज आ रही है ‘ओए बस’, लेकिन लोगों ने ऑनलाइन मेसेज भेजकर कहा कि ‘शोएब बस’।’ उन्होंने कहा, ‘आज पूरे महाराष्ट्र मे सभी कोरोना से लड़ाई लड़ रहे हैं। ऐसे में धार्मिक रंग लाना बिल्कुल गलत है,लेकिन ऐसे समय में भी कुछ लोग मुंगेरी लाल के हसीन सपने देखने का काम कर रहे हैं। सभी सरकार को सहायता करें।’

उन्होंने कहा कि सीआईडी के एक विशेष आईजी स्तर के अधिकारी इस मामले की जांच कर रहे हैं। मगर मैं यह बताना चाहूंगा कि पुलिस ने क्राइम के 8 घंटे के भीतर 101 लोगों को गिरफ्तार किया। हम आज व्हाट्सएप्प के जरिए आरोपियों के नाम जारी कर रहे हैं, उस सूची में कोई मुस्लिम नहीं है।

बता दें कि 16 अप्रैल की रात जब दो साधू और उनका ड्राइवर किसी परिचित के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए कार से मुंबई से गुजरात के सूरत जा रहे थे। उनके वाहन को पालघर जिले के एक गांव के पास रोक लिया गया जहां भीड़ ने बच्चा चोरी करने के संदेह में तीनों को कार से बाहर निकाला और उनकी लाठियों से पीट-पीटकर ह’त्या कर दी।

विज्ञापन