उना में दलित युवकों पर हुए अत्याचार के विरोध में पूरे राज्य के दलितों में आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है. अब ये विरोध धर्मपरिवर्तन तक आ पहुंचा हैं. बनासकांठा जिले के 15 हजार दलितो ने धर्म परिवर्तन करने की धमकी दी है.

जिले में समुदाय के कम से कम 1000 लोगों ने बौद्ध धर्म अपनाने की इच्छा जताते हुए धर्मांतरण के लिए अपनी सहमति दी है. उनका कहना है कि यदि उनसे बराबरी का व्यवहार नहीं किया जाए तो हिंदू धर्म में रहने का कोई मतलब नहीं है.राज्य में दलित अत्याचार के विरोध में बनासकांठा में धरना, रैली आदि का आयोजन किया जा रहा है.

स्थानीय दलित नेता एवं बीडीएस सचिव दिनेश मकवाना ने कहा, उना घटना को लेकर पूरे राज्य के दलित काफी दुखी हैं. यह दिखाता है कि उनसे अभी भी भेदभाव और जाति, धर्म और पेशे के नाम पर विभिन्न अत्याचार होते हैं. इसलिए बनासकांठा से कई दलितों ने बौद्ध धर्म अपनाने की इच्छा जतायी है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?