riya

बीट बाक्सिंग यानी मुंह से संगीत व्यक्त करने वाली एक कला होती हैं. जिसमे किसी भी संगीत उपकरण की मदद नहीं ली जाती हैं. इसी कला से बेंगलुरु के रहने वाले रियाज अहमद अपना जलवा बिखेरते हुए आये हैं. अब उन्होंने अपनी इस कला के जरिए लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया हैं.

रियाज अहमद एक स्टूडेंट हैं और उनमे बिना किसी उपकरण की सहायता से मुंह से संगीत की धुन निकालते हैं. इनकी कला से प्रभावित होकर पश्चिम के कई कलाकारों ने उनसे ये कला को सिखा हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हाल ही में रियाज ने लगातार 10 घंटों तक बीट बाक्सिंग करते हुए अपना नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज कराया है. रियाज अहमद कहते हैं कि यह एक नया कला है, जो पश्चिमी देशों में लोकप्रिय हो रहा है.

गौरतलब रहे कि रियाज अहमद बी बी एम का छात्र है और पिछले पांच वर्षों से बीट बाक्सिंग का भी अभ्यास कर रहा है. उनकी इस कला से कोई प्रभावित हुए बिना नहीं रह सकता हैं.

Loading...