हिंदुस्तान में हिंदू नहीं सुरक्षित, NRC लागू हुआ तो 14 करोड़ हिन्दू होंगे बाहर: प्रवीण तोगड़िया

मुजफ्फरनगर में अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के अध्यक्ष डा. प्रवीण तोगड़िया ने सीएए का समर्थन करते हुए कहा कि बांग्लादेश और पाकिस्तान से आने वाले हिंदुओं को सुरक्षा देना अच्छी बात है, लेकिन भारत के हिंदू कब सुरक्षित होंगे।

सीएए का समर्थन करते हुए कहा कि बांग्लादेश और पाकिस्तान से आने वाले हिंदुओं को सुरक्षा देना अच्छी बात है, लेकिन भारत के हिंदू कब सुरक्षित होंगे। कश्मीर से विस्थापित हिंदुओं को कब वहां बसाया जाएगा। उन्होंने कहा कि मेरठ, मुजफ्फरनगर समेत आसपास के जिलों में हिंदू असुरक्षित हैं। उन्हें अपनी कम होती जनसंख्या की चिंता है। सरकार इस व्यापक विषय पर हिंदुओं को कब सुरक्षा देगी।

इसके अलावा एनआरसी पर उन्होने कहा कि असम में एनआरसी लागू करने की प्रक्रिया से 45 लाख बांग्लादेशी अब भारतीय बन गए, जबकि 15 लाख भारतीय विदेशी बन गए। उन्होने कहा, देशभर में एनआरसी लागू हुई तो 14 करोड़ हिन्दू विदेशी बन जाएंगे।

राम मंदिर के मुद्दे पर उन्होने कहा, नरेंद्र मोदी कभी कारसेवक नहीं रहे। अयोध्या गए नहीं। कोई आंदोलन नहीं किया, फिर राम मंदिर में उन्हें क्यों श्रेय दिया जाए। राम मंदिर के पक्ष में निर्णय देशभर के लोगों की भावनाएं और कोर्ट की कृपा से मिला है। मोदी-शाह ने कुछ नहीं किया, संसद में कानून नहीं बनाया। किंतु भाजपा के कार्यकर्ता जरूर समर्पित रहे हैं।

प्रवीण तोगड़िया ने संघ प्रमुख मोहन भागवत के उस बयान पर प्रहार किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि मुस्लिमों के बिना हिन्दुत्व अधूरा है। आरोप लगाया कि भारत के सभी हिन्दुओं को मुस्लिम बनाने के लिए 1860 में बनी जमीयत-ए-एलेमा हिन्द और दारुल उलूम के मौलाना मदनी से मिलने वाले भागवत अब हिन्दुओं को क्या संदेश देंगे। वो डबल गांधी बन रहे हैं।

विज्ञापन