chidambaram2 621x414

chidambaram2 621x414

नई दिल्ली | गुजरात चुनावो की तारीखों का एलान नही करने की वजह से चुनाव आयोग, विपक्ष के निशाने पर आ गया है. विपक्ष लगातार चुनाव आयोग पर आरोप लगा रहा है की वह प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी के प्रभाव की वजह से गुजरात चुनावो की तारीखों का एलान नही कर रहा है. अब इस कड़ी में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदम्बरम का नाम भी जुड़ गया है. उन्होंने ट्वीट के जरिये चुनाव आयोग को नसीहत दी है.

पी चिदम्बरम ने शुक्रवार को एक के बाद एक ट्वीट कर चुनाव आयोग के फैसले पर सवाल उठाये. उन्होंने अपने पहले ट्वीट में लिखा,’ चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री को अधिकार दे दिया है कि वह गुजरात में अपनी आख़िरी रैली में चुनाव की तारीख़ों का एलान करें. (कृपया चुनाव आयोग को भी बता दें).’ चिदम्बरम यही नही रुके, उन्होंने अपने अगले ट्वीट में चुनाव आयोग की स्वतंत्र संस्था होने पर ही सवाल उठा दिए.

उन्होंने ट्वीट में लिखा,’ एक बार गुजरात सरकार सारी छूट और तोहफ़ों का एलान कर दे, फिर चुनाव आयोग को उनकी बढ़ाई गई छुट्टियों से वापस बुला लिया जाएगा.’ हालाँकि बीजेपी ने चिदम्बरम के इन आरोपों को नकारते हुए उल्टा कांग्रेस पर ही निशाना साध दिया. गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा की कांग्रेस गुजरात चुनाव् से डर गयी है.

मालूम हो की साल के अंत में हिमाचल प्रदेश और गुजरात विधानसभा के चुनाव होने है. लेकिन चुनाव आयोग ने केवल हिमाचल चुनाव की तारीखों का एलान किया है. जबकि कुछ महीनो से इस बात पर जोर दिया जा रहा है की विधानसभा और लोकसभा के चुनाव एक साथ होने चाहिए. फिर गुजरात और हिमाचल विधानसभा के चुनाव एक साथ क्यों नही कराये जा रहे है. इसलिए विपक्ष का लगातार चुनाव आयोग के फैसले पर सवाल उठा रहे है. उधर 22 अक्टूबर को प्रधानमंत्री मोदी एक बार फिर गुजरात दौरे पर जाने वाले है. सितम्बर से अब तक मोदी का यह पांचवा गुजरात दौरा है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?