women left his husband body in train

women left his husband body in train

जहाँ एक तरफ देश कैश की कमी से जूझ रहा है वहीँ कुछ स्थानों पर पैसे की इतनी कमी हो गयी है की मुर्दों तक के अंतिम संस्कार के लिए पर्याप्त पैसे नही मिल रहे है. कुछ दिन पहले जब दानामंझी ने अपनी पत्नी का शव कंधे पर रखकर चलने की खबर आई थी तब उस खबर ने देश को सकते में दाल दिया था. ओडिशा से ही इसी से मिलता-जलता एक और मामला सामने आया है। यहां एक महिला ने अपने पति के शव को ट्रेन में छोड़ दिया क्योंकि उसके ले जाने के लिए उसके पास पैसे नहीं थे।

बीबीसी में प्राकाशित खबर के अनुसार सरोजिनी अपने बीमार पति के साथ आंध्र प्रदेश से ओडिशा के रायपुर लौट रही थीं। तभी रास्ते में उके पति की तबीयत अचानक बिगड़ गई और उनकी मौत हो गई।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सरोजिनी ने बताया, “बिलकुल अनजान जगह और मैं अकेली अनपढ़ औरत। उस पर तीन छोटे-छोटे बच्चे। खाने तक के पैसे नहीं थे। कहां जाती? क्या करती? किससे मदद मांगती? छाती पर पत्थर रख कर मुझे पति का शव ट्रेन में ही छोड़कर बच्चों के साथ रायपुर जाने वाली गाड़ी में बैठना ही पड़ा।”

खबर के मुताबिक, सरोजनी को अपने घर तक पहुंचने के लिए रिश्तेदारों को बुलाना पड़ा। सरोजनी के एक रिश्तेदार नील ने बताया कि एक व्यक्ति को जुगल का शव वापस लाने के लिए नागपुर भेजा गया लेकिन शव का कोई पता नहीं चल पाया और खाली हाथ वापस आना पड़ा लेकिन बाद में महाराष्ट्र के एक रेलवे पुलिस सुपरिटेंडेंट शैलेष बलकावडे ने नागपुर के स्थानीय पत्रकार संजय तिवारी को बताया कि आंध्र प्रदेश से आनेवाली एक ट्रेन में एक शव मिला था जिसे पहले पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया और एक दिन बाद शव को दफना दिया गया।

Loading...