व्हाट्सऐप एक ऐसा चैटिंग ऐप है जिसे दुनिया का हर शख्स इस्तेमाल करता है. लेकिन व्हाट्सऐप में कुछ ऐसा हुआ जिसे देखकर लग रहा है कि अब व्हाट्सऐप मुश्किल में पड़ गया है. अब हम आपको बताते है की आखिर किस वजह से व्हाट्सऐप मुश्किल में है. तो वह है ब्लैकबेरी. वही ब्लैकबेरी, जो अब से कुछ साल पहले अपने क्वार्टी स्मार्टफोन के लिए जानी जाती थी. ब्लैकबेरी अब फिर सुर्खियों में है. इस बार वह किसी स्मार्टफोन या नई तकनीक के लिए नहीं बल्कि फेसबुक को पर मुकदमा दर्ज करवाने के लिए चर्चाओं में है.

आपको बता दें कि, ब्लैकबेरी ने फेसबुक पर मेसेंजर, व्हाट्सऐप और इंस्टाग्राम के लिए अपनी पेटेंट तकनीक की चोरी का आरोप लगाया है. ब्लैकबेरी का कहना है कि सोशल मीडिया पर अपने लोकप्रिय इंस्टेंट मेसेजिंग ऐप्लिकेशंस में ब्लैकबेरी की तकनीक इस्तेमाल कर रही है.

जानिए वह कारण जिनकी वजह से फेसबुक पर यह संगीन आरोप लगाया गया है-

आपको बता दें कि, 2000  में ब्लैकबेरी का मेसेंजर ऐप्लिकेशन ब्लैकबेरी मेसेंजर बेहद लोकप्रिय था. अब ब्लैकबेरी का कहना है कि फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सऐप अब ब्लैकबेरी की डिज़ाइन की गईं तकनीक का इस्तेमाल कर रहे हैं. कंपनी ने कहा कि, ‘हम कड़े दावे के साथ कह सकते हैं कि फेसबुक ने हमारी इंटलैक्चुअल प्रॉपर्टी की चोरी की है.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीँ अब ब्लैकबेरी चाहती है कि फेसबुक अपना प्राइमरी ऐप बंद कर दे. इसी के साथ कंपनी का यह भी कहना है कि फेसबुक मेसेंजर, वर्कप्लेस चैट, व्हाट्सऐप और इंस्टाग्राम को भी बंद किया जाए.आपको बता दें कि, अभी तक ब्लैकबेरी ने किसी आधिकारिक आंकड़ों की जानकारी नहीं दी है, लेकिन कंपनी अपने नुकसान की भरवाई चाहती है.

bb

ब्लैकबेरी के फेसबुक पर यह इलज़ाम भी लगाया है कि फेसबुक ने ब्लैकबेरी के कई सारे फीचर्स चुराए हैं. इनमें इनबॉक्स में मल्टीपल इनकमिंग मेसेज, किसी आइकन के ऊपर अनरीड मेसेज इंडिकेटर दिखाना, फोटो टैग सिलेक्ट करना और अब हर मेसेज में टाइमस्टैम्प शो करने जैसे फीचर्स शामिल हैं.

वहीँ मामले पर फेसबुक के डेप्युटी जनरल काउंसिल, पॉल ग्रेवाल ने ब्लैकबेरी के इन आरोपों पर कहा, ‘ब्लैकबेरी के मेसेजिंग बिजनस के मौज़ूदा स्तर से इन आरोपों की वजह साफ होती है. कुछ नया खोजने की जगह अब ब्लैकबेरी दूसरे के इनोवेशन पर टैक्स लगाने के लिए जोड़-तोड़ कर रही है. अब हम जंग लड़ेंगे और मैदान में खड़े होंगे.’