shahnaz

 

जयपुर – राजस्थान के मेवात क्षेत्र के भरतपुर में एक MBBS महिला डॉक्टर ने सरपंच बनकर क्षेत्र में मिसाल पेश की है। गौरतलब है कि महिला डॉक्टर हरियाणा और मेवात के किसी क्षेत्र से चुनाव लड़ना चाहती हैं। उनके मुताबिक उनका उद्देश्य योजनाबद्ध तरीके से क्षेत्र के विकास पर है। महिला सरपंच की पूरा परिवार राजनीति में है और वो दादा की सीट पर सरपंच बनी हैं।

कौन है ये MBBS महिला सरपंच

सरपंच बनी इस महिला सरपंच का नाम शहनाज खान है जो कि 24 साल की हैं। वे अपने क्षेत्र में लड़कियों की शिक्षा पर जोर देना चाहती हैं। उन्होंने पांचवी तक की पढ़ाई गुरूग्राम के श्री राम स्कूल से की और फिर इसके बाद छठीं से 12 वीं तक की पढ़ाई मारूति कुंज से की है। इसके बाद वे उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद से MBBS कर रही हैं।

sarpanch 640x320

शहनाज एमबीबीएस के फार्थ इयर में हैं। प्राप्त जानकारी के मुताबिक शहनाज MBBS के चौथे साल में हैं और वे अगले महीने से अस्पताल में इंटर्नशिप शुरू करेंगी। उन्होंने सरपंच का चुनाव 195 वोटों से जीता और राजस्थान की पहली महिला MBBS डॉक्टर सरपंच बनीं। शहनाज के नाना पंजाब,राजस्थान और हरियाणा के कैबिनेट मंत्री रहे थे और सांसद भी रहे थे। शहनाज भरतपुर के कामां पंचायत की सरपंच बनीं हैं।

इसलिए चुना राजनीति का रास्ता

शहनाज ने बताया कि जहां से उनके दादा 55 साल तक सरपंच थे वहीं से वहीं से वे चुनाव जीती हैं। शहनाज के दादा को फर्जी सर्टिफिकेट इश्यू करने का आरोप था जिस कारण सरपंच चुनाव रद्द कर दिया गया था। फिर शहनाज के दादा के बाद उस सीट को लेकर घर में बात शुरू हो गई थी कि कौन चुनाव लड़ेगा इस बात पर काफी देर बाद फैसला हुआ कि शहनाज ही इस सीट पर सरपंच का चुनाव लड़ेंगी। जानकारी के मुताबिक शहनाज का पूरा परिवार राजनीति में है पिता गांव के प्रधान, मां विधायक,संसदीय सचिव भी रह चुकी हैं।

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?