sheikh alkami

 

शेख अली अल-अलकमी का 147 साल की उम्र में अभा में निधन हो गया. यह शख्स सऊदी का सबसे उम्रदराज़ शख्स थे और एक ख़ास किस्म का आहार लिया करते थे. अलकमी को कारों में सवारी करने से बेहद नफरत थी, इस उम्र में भी अलकमी अभा से मक्का तक का सफ़र पैदल लिया करते थे.

शेख अल-अलकमी ने अली बिन मोहम्मद बिन आ’इद, अब्दुल्लाह बिन मोहम्मद बिन आद और हसन बिन आद के शासन को बखूबी देखा था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वह 38 साल के थे जब किंग अब्दुलअज़ीज़ ने सऊदी अरब के असिर हिस्से को बनाने का एलान किया था.

अल अरबिया के मुताबिक, याह्या अल-अलकमी उनके परिवार के एक सदस्य है, उन्होंने बताया कि शेख अली ने हमेशा अपने खेत के अनाज, गेहूं, मक्का, जौ और शहद से खाया करते थे.

source: Al Arabiya

उन्होंने ताजा गोश्त खाना बेहद्द पसंद था. याह्या ने कहा कि शेख अली हमेशा अपने पास कुरान-ए-पाक रखते थे और रोज़ क़ुरान-ए-पाक पढते थे. उन्हें पैदल चला भी बहुत पसंद था.

 शेख अली अल-अलकमी का एक बेटा था जिसकी मौत हो गई थी. उनकी एक बेटी  भी है. उन्होंने अपनी मौत से पहले कहा था कि, “पहले के ज़माने में ज़िन्दगी बेहद्द खूबसूरत थी, आज चीजें और लोग बहुत बदल चुके हैं. मेरी पीढ़ी का कोई भी नहीं बचा है इसलिए मैं लोगों के बीच अकेला महसूस करता हूं.”

आपको बता दें कि दिमाग का दौरा पड़ने की वजह से उनकी ज़िन्दगी खत्म हो गयी.


Loading...