बाप और वर्दी का फर्ज़ एक सा‍थ निभा रहा हैं यह पुलिसवाला

रांची। दुनिया भर में  पुलिस की नौकरी को सबसे कठिन नोक्रियो की गिनती में गिना जाता हैं. ऐसे में रांची पुलिस का ये जवान जो कि पीसीआर वैन नंबर 12 में तैनात हैं यह वर्दी और बाप का फर्ज एक साथ निभा रहा है.

ड्यूटी के दोरान भी अपनी बेटी को अपने पास ही रखता है. चाहे गश्‍त हो या फिर कही पर भी पर ड्यूटी, हर समय दूधमुंही बच्‍ची उसकी गोद में या फिर पीसीआर वैन में ही रहती है.

उत्‍तम कुमार नाम के इस कॉन्‍स्‍टेबल को अपनी बीवी और बेटी की देखभाल के लिए छुट्टी तक नहीं मिल रही है. इसलिए वे मजबूरन अपनी बेटी को साथ लेकर ही ड्यूटी कर रहे हैं.

उत्‍तम कुमार के अनुसार उनके घर और ससुराल पक्ष में कोई ऐसा संबंधी नहीं है, जो उनकी बेटी की सही तरीके से देखभाल कर सकता हैं  इसलिए उन्‍हें मज़बूरी में अपनी बेटी को ड्यूटी के समय साथ रखना होता है।

यह बच्‍ची अब अन्‍य पुलिसवालों की दुलारी बन गई है. ड्यूटी के दौरान जब उत्‍तम अपनी बेटी को कुछ समय के लिए दूर हो जाते हैं तो उस वक्‍त उनके सहकर्मी उनकी बच्‍ची को संभालते हैं.

 

विज्ञापन