Saturday, December 4, 2021

इंडोनेशिया में मिला ‘सोने का द्वीप’ इतना सोना कभी नहीं देखा होगा

- Advertisement -

ये तो सब जानते है समुन्द्र में बहुत से ऐसी चीज़े दफन है जो बहुत कीमती और नायब है। ऐसी ही एक कीमती खज़ाना नहीं बल्कि पूरा द्वीप को खोज निकाला है जिसमे सोने चांदी और अन्य बहुमूल्य गहनों से भरा पड़ा हुवा है यह उनके लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। दरअसल मछुआरों ने जिस द्वीप को खोजा है, वहां 700 साल पहले श्रीविजया साम्राज्य का शासन था, जिसे दुनिया की अंतिम सबसे शक्तिशाली राजशाही माना जाता है।

‘सोने का द्वीप’ कहे जाने वाला यह साम्राज्‍य देश के सुमात्रा इलाके में पाया गया है। मिली जानकारी के मुताबिक मछुआरे बीते 5 साल से पालेमबांग के पास घड़‍ियालों से भरे मूसी नदी में खजाने की तलाश कर रहे थे। अब नदी की गहराई में एक मछुआरे के हाथ सोने का अनमोल खजाना हाथ लगा है।

अभी प्रारंभिक जानकारी मिली है कि इस खजाने में सोने की रिंग, सिक्के और भगवान बुद्ध की एक अद्भुत प्रतिमा हाथ लगी है और लगातार इन इलाके में खोज जारी है। भगवान बुद्ध की मूर्ति 8 शताब्‍दी की है और इसकी कीमत करोड़ों रुपए है। इस खूबसूरत मूर्ति में कई अनमोल रत्न भी लगे हैं। इतिहास में कई किताबें भरी पड़ी है, जो श्रीविजया साम्राज्य की गौरव गाथा का बखान करते हुए मिली है।

श्रीविजया साम्राज्य का भारत से भी करीबी संबंध था। इतिहासकारों के मुताबिक श्रीविजया साम्राज्‍य ने 7वीं से लेकर 13वीं शताब्‍दी के बीच में शासन किया था और यह बहुत ही शक्तिशाली साम्राज्य माना जाता था। हालांकि इस साम्राज्य का पतन क्यों हुआ, यह आज भी रहस्य बना हुआ है। ब्रिटिश पुरातत्‍वविद डॉक्‍टर सीन किंग्‍स्‍ले ने जानकारी दी है कि श्रीविजया साम्राज्‍य का पता लगाने के लिए महान खोजकर्ताओं ने थाइलैंड से लेकर भारत तक में इसकी तलाश कर डाली थी, लेकिन इस साम्राज्य के बारे में विशेष जानकारी हासिल नहीं हुई।

सीन किंग्स्ले का कहना है कि अभी तक के शोध से पता चलता है कि है कि श्रीविजया साम्राज्य धरती का सबसे अंतिम शक्तिशाली साम्राज्य था। इस साम्राज्‍य की राजधानी में ही 20 हजार सैनिक रहते थे। इसके अलावा 1000 बौद्धभिक्षु भी वहां रहते थे. साथ ही 6वीं और 7वीं शताब्‍दी में एशियाई समुद्री व्‍यापार में काफी तेजी आई और चीन का विशाल बाजार खुल गया। बौद्ध परंपरा के कारण चीन को इंडोनेशिया से भारी मात्रा में निर्यात होने लगा था। शोधकर्ताओं ने बताया कि बीते 5 साल से इस द्वीप पर असाधारण चीजें मिल रही हैं। सभी कालखंडों के सिक्‍के, सोना, बुद्ध की मूर्ति, अनमोल रत्‍न आदि मिल रहे हैं। यहां सोने के भंडार और प्राकृतिक संसाधन पाए जाते थे। यह दक्षिण-पूर्व एशिया में व्‍यापार के लिए आगमन का शुरुआती केंद्र था।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles