apradhbanner
बहराइच: उत्तर प्रदेश के आगामी चुनाव को लेकर प्रधानमन्त्री मोदी इन दिनों प्रदेश में ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे है, आने वाली 11 दिसम्बर को बहराइच के गाँव विश्वरिया में रैली होनी है जिसके लिए 120 बीघा ज़मीन की ज़रूरत थी जब ज़मीन की नापतोल की गयी तो पता चला की कुछ ज़मीन कम पड़ रही है और जिस जगह की ज़मीन की ज़रूरत थी वो एक मुस्लिम किसान शहजादे की थी.

जब इस बात का पता चला तो स्थनीय भाजपा नेताओं ने शहजादे से संपर्क साधा लेकिन चूँकि किसान के चार बीघा खेत में अरहर फसल लगी हुई थी जिसे लेकर सभी को आशंका थी की शायद किसान तैयार ना हो लेकिन आशा के विपरीत किसान तुरंत तैयार हो गया और यही नही उसने फसल कटवाने के लिए किसी की मदद लेने से भी इनकार कर दिया और खुद ही फसल कटवाने की बात कही.

जिलाधिकारी, एसपी, डीआईजी भी मोदी की प्रस्तावित रैली स्थल का मुआयना कर चुके हैं। रैली के लिए लगभग 120 बीघा परिक्षेत्र (10 हेक्टेयर) की जरूरत है। मैदान लगभग चार हेक्टेयर का था। ऐसे में भाजपा जिलाध्यक्ष श्यामकरन टेकड़ीवाल व पदाधिकारियों ने किसानों के खेत को रैली स्थल के लिए प्रयोग करने के लिए उनकी सहमति मांगी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

विश्वरिया गांव के किसान सहर्ष तैयार हो गए। लगभग चार किसानों की जमीन रैली स्थल में शामिल की जा रही है। इनमें एक नाम सहजादे का भी है। सहजादे की चार बीघा अरहर की फसल लगी हुई है। सहजादे इस फसल को स्वयं कटवा रहे हैं।

Loading...