liya एक लम्बे अरसे तक पाकिस्तानी चैनल QTV पर धार्मिक मसलों पर बहस करने वाले एंकर आमिर लियाकत से पाकिस्तान का बच्चा बच्चा वाकिफ है. उनके उर्दू बोलने के लहजे और कैमरे के सामने प्रेजेंटेशन से शो में एक अलग ही रौनक नज़र आती थी. हालाँकि बीच में उनके कुछ आपत्तिजनक विडियो भी वायरल हुए जिनमे वो धार्मिक गुरुओं के सामने फ़िल्मी गाने गा रहे थे तथा अपशब्दों का इस्तेमाल कर रहे थे लेकिन जनता ने उनके अंदाज़े-बयाँ के आगे इन  बातों को भी इग्नोर कर दिया.

आमिर लियाकत सिर्फ एक एंकर ही नही बल्कि 2002 से 2007 तक पाकिस्तान असेंबली के मेम्बर भी रह चुके हैं तथा उन्होंने धार्मिक मामलों का मंत्रिमंडल संभाला था.

इस्लामाबाद हाईकोर्ट 10 जनवरी को हुसैन की एंकरिग, अखबारों या सोशल मीडिया में बोलने लिखने पर आजीवन रोक लगाने पर विचार करेगा। तब तक हुसैन पर अस्थाई रोक लगा दी गई है। अपने टीवी शो के माध्यम से लियाकत पर धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप लगा है, उनके खिलाफ दाखिल अर्जी में कहा गया है की आमिर पिछले काफी वर्षों से समाज को बाटनें का काम कर रहे हैं तथा टीवी पर बैठकर अपने मुताबिक फतवा तैयार कर लेते हैं.

aamir

आमिर लियाक़त हुसैन को पाकिस्तान में टीआरपी किंग कहा जाता है। अदालत ने कहा है कि हुसैन मुल्क में नफ़रत फैलाने और लोगों को हिंसा के लिए उकसाने में लगे रहे हैं। याचिकाकर्ता का कहना है कि हुसैन अपनी लोकप्रियता का लाभ उठाकर लोगों को हिंसा और अतिवाद के लिए भड़काते हैं।

हुसैन पर आरोप है कि उन्होंने लाइव शो में अहमदिया मुसलमानों के खिलाफ हिंसक बाते कहीं। उनके पैनल में एक वक्ता ने कहा कि अहमदिया को मार देना चाहिए। उसके बाद दो लोग मार भी दिए गए।

इस साल जनवरी में पांच सेकुलर ब्लागर गुमशुदा हो गए। हुसैन ने उनके ब्लाग और फेसबुक पोस्ट निकालकर बताया कि काफिर हैं। ख़ुदा की निंदा की है। पाकिस्तान में यह आरोप साबित हो गया तो सज़ाए मौत मिल जाती है। इस मामले में पाकिस्तान की नियामक संस्था PEMRA (Pakistan Electronic Regulatory Authority) ने हुसैन की एंकरिंग पर रोक लगा दी थी।

पाकिस्तान में मीडिया आलोचक मेहदी हसन ने कहा है कि मैं अदालतों द्वारा मीडिया के नियंत्रण की वकालत नहीं करता मगर यह दुखद है कि इलेक्ट्रानिक मीडिया संपादकीय निर्णयों का इस्तमाल नहीं करते हैं। टीवी एंकर रेटिंग और लोकप्रियता हासिल करने के लिए कुछ भी कर गुज़रते हैं।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें