kaba sharif

जेद्दाह – इस जुमा को 15 जुलाई को ठीक जुहर की अज़ान के बाद काबा शरीफ की परछाई कुछ समय के लिए अद्रश्य हो जाएगी. इस वर्ष दूसरी बार ऐसा मौका है जब काबा की परछाई दिखाई नही देगी.

एस्ट्रोनॉमिकल सोसाइटी जेद्दाह के प्रेसिडेंट माजिद अबू ज़ाहिर के अनुसार ठीक दोपहर के 12:27 PM पर सूरज ठीक काबा शरीफ के उपर होगा यह वही समय है जब हरम शरीफ में जुहर की अज़ान का वक़्त होता. जब इस समय सूरज ठीक किसी ऑब्जेक्ट के ऊपर से गुज़रता है तब कुछ समय के लिए उसकी परछाई ठीक उसी वस्तु के बराबर तथा घरातल में बनती है जिससे ऐसा महसूस होता है की वस्तु की परछाई अद्रश्य हो गयी है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गौरतलब है की किबला से मुस्लिम जगत में दिशाओ का पता किया जाता है तथा काबा शरीफ की तरफ मुंह करके नमाज़ अदा की जाती है.

इस्लामिक देशो में टेक्नोलॉजी विकसित होने से पूर्व इसी तरह किबला की दिशा का पता किया जाता था जब सूरज ठीक ऊपर होता है उसी समय धान्तु की एक छड़ी ज़मीन पर वर्टिकली खड़ी कर दी जाती है जब तक सूरज ऊपर रहता है तब तक परछाई नज़र नही आती लेकिन जब उस छड़ी की परछाई दिखना शुरू होती है तब किबला ठीक उसकी उलटी दिखा में होता है

Loading...