जानिए देश की पहली मुस्लिम महिला डाकिया के बारे में, जिसने रच दिया इतिहास

6:33 pm Published by:-Hindi News
jamila

हैदराबाद: हैदराबाद की जमिला को देश की पहली मुस्लिम महिला डाकिया होने का खिताब हासिल है. उन्होंने अनुकंपा नियुक्ति के तहत ये जिम्मेदारी निभाई थी.

दरअसल, महबूबाबाद जिले के गरला मंडल की रहने वाली जमीला के पति ख्वाजा मिया पोस्टमैन थे और दस साल पहले उनकी मौत हो गई थी. ऐसे में विभाग की तरफ से उन्हें अनुकंपा नियुक्ति का प्रस्ताव दिया गया था.

पति की मौत के वक्त उनकी बड़ी बेटी पांचवी कलास में पढ़ती थी और छोटी तीसरी में. घर चलाने के लिए उनके परिवार में कोई अन्य शख्स मौजूद नहीं था.

Related image

ऐसे में उन्होंने पति की नौकरी करना मंजूर किया. इस तरह जमीला देश की पहली महिला मुस्लिम पोस्ट वुमन बन गई. जमीला बतौर महिला डाकिया वह साइकिल से लोगों के घरों में टेलिग्राम, पार्सल और चिठ्ठियां पहुंचाने का काम कर रही हैं.

जमीला को फिलहाल 6 हजार रुपए महीने की तनख्वाह मिल रही है, जिससे इस महंगाई के जमाने में परिवार का खर्चा चलाना नामुमकिन सा है. बावजूद आज उनकी बड़ी बेटी जहां इंजीनियरिंग कर रही है. वहीं छोटी बेटी डिप्लोमा कोर्स कर रही है.

Loading...