mecca from indonesia

दुनिया भर हर साल मुस्लमान हज और उमराह अदा करने मक्का शरीफ आते है. इस साल हर साल से ज्यादा लोग उमराह अदा करने मक्का पहुंचें. इसी बीच एक ऐसा वाकया सामने आया है जिससे आप हैरान रह जाएँगे क्योंकि इस इंडोनेशिया के कपल ने मक्का तक का सफ़र सिर्फ एक साइकिल पर तय किया. चौक गये न आप भी जी हाँ वैसे यह पहले बार नहीं जब कोई मक्का हवाई यात्रा करने के बजाए इस तरह सफ़र करके आया हो.

इससे पहले भी इंडोनेशिया के एक शख्स ने इंडोनेशिया से मक्का तक का सफ़र पैदल तय किया था. अब हम बात करते है साइकिल से मक्का तक की यात्रा करने वाले इस शख्स की. हालांकि, हकम मब्रूरी और उनकी पत्नी रोफिंगतुल इस्लामिया इन दोनों की ही उम्र 35 साल है. इस कपल ने अपने जूनून भरे कारनामे से यह साबित कर दिखाया की इस दुनिया में कुछ भी करना नामुमकिन नहीं है. इंडोनेशियाई कपल ने अपने इसी साहस और अल्लाह के लिए मोहब्बत दिखाने के लिए वह मक्का में पहुंचे.

अपनी साइकिल पर सवार इस कपल ने सात देशों से गुज़रते हुए 12,000 किलोमीटर की दूरी तय करके एक साल में मक्का का सफ़र पूरा किया. 17 दिसंबर, 2016 को अपनी यात्रा शुरू करने से पहले, दंपति ने पूर्व जावा में मलंग के अपने गृहनगर में डेढ़ महीने तक अपनी साइकिल की तैयारी की थी.

source: Saudi Gazette

इस कपल ने अपनी साइकिल का डिज़ाइन खुद तैयार किया था और फिर कंपनी को इसी तरह की साइकिल बनाने के लिए कहा था जसमें दो सीटों, एक सामान वाहक और पैडल के दो सेटों की आवश्यकता के साथ इसे तैयार किया गया.

इस कपल के बेहद अलग विचार के लिए कई NGO ने उनका समर्थन किया. मबरुरी और इस्लामिया ने उन सभी धर्मों के लोगों के बीच इस्लाम के शांतिपूर्ण संदेश को फैलाने के लिए अपनी यात्रा का इस्तेमाल करने का फैसला किया था, जिसमें वे उन सभी देशों के लोगों से मिलें जहाँ-जहाँ से उन्होंने अपना सफ़र तय किया.

मबरुरी ने कहा कि उन्होंने अपनी यात्रा के लिए साइकिल चुना क्योंकि यह शादीशुदा जीवन में सद्भाव का प्रतीक है. जिस तरह जीवन के पहिये को आगे बढ़ाने के लिए, पति और पत्नी को कई समझौता और समायोजन करना पड़ता है ठीक वैसा ही हमने सफ़र केर दौरान किया.

source: Saudi Gazette

आपको बता दें कि, उन्होंने अपने सफ़र के दौरान GPS टेक्नोलॉजी और गूगल मैप का इस्तेमाल किया. अपने सफ़र के दौरान उन्होंने कई देशों की संस्कृति, वहां का रहन-सहन, खाना भी देखा. मबरूरी ने बताया की सफ़र में पड़ने वाले सभी देशों ने उनका ख़ास स्वागत किया. अपने घर में रहने के लिए जगह भी दी. इसी के साथ उन्होंने बताया कि मिस्र में भी उनका ख़ास स्वागत किया गया.

सऊदी गेज़ट के मुताबिक, यह कपल उमराह अदा करने के बाद हवाई यात्रा से अपने देश इंडोनेशिया वापिस जाएँगे. वहीँ उन्होंने यह भी कहा कि हमने सिर्फ एक साइकिल से मक्का का सफ़र तय करके अपने देश नाम रोशन किया है, हमें खुद पर बहुत गर्व है.

source: Saudi Gazette

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें