Saturday, December 4, 2021

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कि कुछ बड़ी गलतियां: बीबीसी रिपोर्ट

- Advertisement -

भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र दामोदर दास मोदी लघभग अब तक वह अपने कार्यकाल में दुनिया के आधे देशो का दौरा कर चुके होंगे. इसके साथ ही जबसे वो पॉलिटिक्स में आये तबसे बात की जाये तो उन्होंने अब तक अनगिनत भाषण दे चुके होंगे. इन भाषणों और विदेशी दौरे के दौरान मोदी जी ने11 ऐसी गलतियां की है. जिसको सुनकर आप भी हैरान हो जाएंगे.

बीबीसी दुवारा की प्रकाशित की गयी इस विशेष रिपोर्ट में देखिये पूरा सच.
अमरीका दौरे पर गए भारत के पीएम नरेंद्र मोदी ने कोणार्क के सूर्य मंदिर के बारे में ये कह दिया कि ये 2000 साल पुराना है, जबकि ये 700 साल पुराना है.

1.साल 2003 , नवंबर में एक रैली में महात्मा गांधी के बारे में चर्चा करते हुए उन्हें मोहनलाल करमचंद गांधी कह दिया.
जबकि गांधी जी का सही नाम मोहनदास करमचंद है मोदी की इस ग़लती पर उनकी काफ़ी किरकिरी हुई थी.

2. वर्ष 2013 में पटना की बहुचर्चित रैली में नरेंद्र मोदी ने बिहार की शक्ति का ज़िक्र करते हुए सम्राट अशोक का जिक्र किया, पाटलिपुत्र का ज़िक्र किया और फिर नालंदा और तक्षशिला का. तो आपको बता दे की, तक्षशिला का पंजाब का हिस्सा रहा है और अब पाकिस्तान में है.

3. जुलाई 2003 में नरेंद्र मोदी ने अहमदाबाद में कहा था कि आज़ादी के समय एक डॉलर की क़ीमत एक रुपए के बराबर थी. जबकि सच्चाई यह हैं कि उस समय एक रूपए की क़ीमत 30 सेंट के बराबर थी. और उस समय एक रुपया एक पाउंड के बराबर था.

4. साल 2003 में अहमदाबाद में एक रैली के दौरान मोदी जी ने कहा था कि, अहमदाबाद नगरपालिका में महिलाओं के आरक्षण का प्रस्ताव सरदार वल्लभ भाई पटेल ने 1919 में रखा था.आपको बता दे कि लंबे समय तक गुजरात के मुख्यमंत्री रहे नरेंद्र मोदी ये भूल गए थे कि वल्लभ भाई पटेल ने ये प्रस्ताव 1926 में दिया था.

5. फरवरी 2014 में नरेंद्र मोदी ने मेरठ में कहा था कि कांग्रेस ने आज़ादी की पहली लड़ाई को कम कर के आँका था. बल्कि तथ्य ये है कि मेरठ में 1857 की क्रांति शुरू हुई थी. लेकिन मोदी ये भूल गए कि कांग्रेस की स्थापन 1885 में हुई थी. 1857 में कांग्रेस का कोई अता-पता नहीं था.

6. नवंबर 2003 में बंगलौर में नरेंद्र मोदी ने कहा था- 15 अगस्त का प्रधानमंत्री का भाषण लाल दरवाज़े से होता है. अब ये कोई बताने वाला तथ्य नहीं है कि पीएम लाल क़िले से भाषण देते हैं, न कि लाल दरवाज़े से.

7. 2003 में मुंबई में नरेंद्र मोदी ने कहा था कि वर्ष 1960 से महाराष्ट्र में 26 मुख्यमंत्री हुए हैं. तथ्य ये है कि 2003 तक सिर्फ़ 17 नेताओं ने 26 बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है.

8. मोदी जी ने एक बार कहा था कि जब हम गुप्त साम्राज्य की बात करते हैं कि हमें चंद्रगुप्त की राजनीति की याद आती है. दरअसल मोदी जिस चंद्रगुप्त का और उनकी राजनीति का जिक्र कर रहे थे, वो मौर्य वंश के थे. गुप्त साम्राज्य में चंद्रगुप्त द्वितीय हुए थे. लेकिन मोदी उनका ज़िक्र नहीं कर रहे थे.

9. चुनाव से पहले वर्ष 2013 में मोदी ने जम्मू में एक रैली के दौरान कहा था कि मेजर सोमनाथ शर्मा को महावीर चक्र और ब्रिगेडियर रजिंदर सिंह को परमवीर चक्र मिला था. तथ्य ये है कि मेजर सोमनाथ शर्मा को परमवीर चक्र और रजिंदर सिंह को महावीर चक्र मिला था.

10. नवंबर 2013 में खेड़ा में नरेंद्र मोदी श्यामजी कृष्ण वर्मा और श्यामा प्रसाद मुखर्जी में अंतर नहीं कर पाए. मोदी ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी को गुजरात का बेटा कह दिया और ये भी कह दिया कि उन्होंने लंदन में इंडिया हाउस का गठन किया था. और उनकी मौत 1930 में हो गई थी. दरअसल श्यामा प्रसाद मुखर्जी का जन्म कोलकाता में हुआ था. उनकी मौत 1953 में हुई थी. दरअसल मोदी श्याम कृष्ण वर्मा की जगह श्यामा प्रसाद मुखर्जी बोल गए.

11. बिहार के पटना में रैली के दौरान मोदी ने कहा था कि सिकंदर की सेना ने पूरी दुनिया जीत ली थी. लेकिन जब उन्होंने बिहारियों से पंगा लिया था, उसका क्या हश्र हुआ. यहाँ आकर वो हार गए. सिकंदर की सेना ने कभी गंगा पार ही नहीं की.

BBC report.

Web-Title: Blunders of PM Modi during his political tenure

Key-Words: Modi,PM,India, America, Blunders

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles