नई दिल्ली: योग गुरु बाबा रामदेव ने बुधवार को एक ब्यान सामने आया है. दरअसल बीजेपी के सांसद विनय कटियार के बयान पर असहमति ज़ाहिर करते हुए रामदेव ने कहा कि “इस देश में रहने के लिए मुसलमानों को भी समान अधिकार है.” बीजेपी के सांसद विनय कटियार ने अपने बयान में कहा था कि मुसलमानों को भारत में रहने की कोई ज़रूरत नहीं है क्योंकि उन्होंने आबादी के आधार पर देश का बटवारा किया है, उन्हें बांग्लादेश या पाकिस्तान जाना चाहिए.

बाबा रामदेव ने कहा कि मैं विनय कटियार की बात से सहमत नहीं हूं क्योंकि मुस्लिमों को इस देश में रहने का समान अधिकार है. इस देश सभी का बराबरी का हक़ है. इस देश सभी धर्मों के मानने वाले लोग रहते है. यहाँ जैन, बौद्ध, दलित, सिख, और ईसाईयों रहते है. धर्म के आधार पर लोगों को अलग करने का किसी को अधिकार नहीं है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी के साथ बाबा रामदेव ने कश्मीर के युवाओं से अपील की है कि वह विद्रोही और गैर-राष्ट्रवादी ना बनें. इसके बाद उन्होंने काह कि, मैं भी एक विद्रोही था लेकिन फर्क सिर्फ इतना था की मेरा विद्रोह देश के खिलाफ नहीं था बल्कि अंधविश्वास और शोषण के खिलाफ था.

रामदेव ने कहा कि, किसी भी व्यक्ति को संविधान के मापदंडों के अंदर ही  विद्रोही होना चाहिए. बीजेपी के सांसद विनय कटियार ने कहा बयान में कहा था कि मुसलमानों को भारत में रहने की कोई ज़रूरत नहीं है क्योंकि उन्होंने आबादी के आधार पर देश का बटवारा किया है उन्हें बांग्लादेश या पाकिस्तान जाना चाहिए.