Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

13 वर्ष की छात्रा से आठ अध्यापक कर रहे थे डेढ़ वर्ष से यौन शोषण

- Advertisement -
- Advertisement -


एक बार फिर शिक्षक जैसे सम्मानित पद को आठ शिक्षकों द्वारा अपमानित होना पड़ा, मामला बीकानेर का है जहाँ एक नाबालिग छात्रा (13 वर्ष) के साथ उसी के विद्यालय के आठ शिक्षक लगातार डेढ़ वर्ष से यौन शोषण कर रहे थे इतना नहीं, इन हैवानों ने उसका वीडियो भी बनाया और उसको ब्लैकमेल करते रहे. उन दरिंदों ने वीडियो के बहाने डेढ़ साल तक बच्ची का यौन शोषण किया.

इस बच्ची के साथ हुई यह घटना बीकानेर के नोखा इलाके में स्थित साजनवासी गांव की सरस्वती शिक्षण संस्था में हुई. यहां पिछले डेढ़ डेढ़ साल से उस अश्लील वीडियो क्लिप के सहारे 13 वर्षीय छात्रा को ब्लैकमेल कर उसके साथ रेप किया गया. जब भी बच्ची ने जुबान खोलने की कोशिश की तो उसे जान से मारने की धमकी देकर दबा दिया गया. इतना ही नहीं आरोपियों ने बच्ची को इतनी गर्भनिरोधक दवाएं खिलायीं कि उसको कैंसर हो गया है.

पीड़ित छात्रा के पिता ने बताया, इन शिक्षकों ने स्कूल में पहले बच्ची का अश्लील वीडियो बनाया और बाद में उसे ब्लैकमेल कर बार-बार उसका यौन शोषण करते रहे. लेकिन एक दिन बच्ची ने अपनी मां को सारी बात बता दी. बच्ची की बात सुनकर हमारे तो होश उड़ गए.

इसके बाद बच्ची के माता-पिता उसे लेकर सीधे नोखा थाने पहुंचे और वहां स्कूल के टीचर विरेन्द्र, विक्रम, विकास, पवन, हनुमान, रोहित, दुलीचंद और बिजेन्द्र के खिलाफ़ यौन शोषण और ब्लैकमेलिंग का मामला दर्ज कराया. उन्होंने पुलिस को बताया कि आरोपियों ने उसे कक्षा में बंद कर लिया और उसके सारे कपड़े उतारवा लिए. फिर मोबाइल से उसका वीडियो बनाया और वीडियो को इंटरनेट पर वायरल करने की धमकी देकर उकसे साथ बलात्कार करते रहे. सभी शिक्षक स्कूल की छुट्टी हो जाने के बाद उसे डरा धमकाकर उसका यौन शोषण करते थे.

यही नहीं गर्भवती होने के डर से उन्होंने इस मासूम को बहुत ज़्यादा गर्भनिरोधक गोलियां खिला दी. जिसकी वजह से उसकी तबीयत और ज़्यादा बिगड़ गई. इन दवाओं की ओवर डोज का नतीजा ये हुआ कि पीड़ित बच्ची को कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी हो गई. फिलहाल पीड़िता को पीबीएम हॉस्पीटल के कैंसर रिसर्च सेंटर में भर्ती कराया गया है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मामले की जांच नोखा थाना के सीओ बनवारी लाल कर रहे हैं. आरोपियों की तलाश की जा रही है, जगह-जगह छापे भी मारे जा रहे हैं. लेकिन अभी तक आठों टीचर फ़रार हैं. नोखा पुलिस स्टेशन के SHO, दरजाराम ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ गैंगरेप के लिए IPC की धारा 376-D FIR दर्ज की गई है. इसके अलावा Protection of Children from Sexual Offences(POCSO) एक्ट के तहत भी कई धाराएं लगाई गयीं हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles