मलेशिया में एक शख्स को सोशल मीडिया पर इस्लाम धर्म के अपमान के मामले में दस साल की सजा सुनाई गई है। दरअसल युवक पर पैगंबर मुहम्मद (सल्ल.) के अपमान का आरोप है। इस मामले में तीन अन्य लोग भी शामिल है।

इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस मुहम्मद फुजी हारून ने बताया, ‘एक व्यक्ति, जिसे पहचाना नहीं गया, को संचार नेटवर्क के गलत इस्तेमाल के 10 आरोपों के लिए दोषी ठहराया गया। बता दें कि ऐसे एक अपराध में दोषी साबित होने पर एक साल की सजा या पसास हजार मलेशियन रुपए (करीब 8.5 लाख रुपए) या दोनों का जुर्माना है।

Loading...

फुजी हारून ने बताया कि दोषी को लगातार सजा सुनाई जाती रहीं। मामले में आईजी मुहम्मद फुजी ने आगे बताया, ‘पुलिस जनता को सलाह देती है कि किसी भी प्रकार की आपत्तिजनक सामग्री को अपलोड या शेयर करके सोशल मीडिया या संचार नेटवर्क का गतलत इस्तेमाल ना करें, जो धार्मिक या नस्लीय संवेदनशीलता को प्रभावित कर सकता है या जिससे इस देश के विविध समुदाय के भीतर नस्लीय तनाव पैदा हो सकता है।

कोर्ट ने एक अन्य सोशल मीडिया यूजर्स को भी धर्म का अपमान करने का दोषी माना है और उसे सोमवार को सजा सुनाई जाएगी। दो अन्य लोगों ने दोषी नहीं होने की दलील दी थी और उन्हें जमानत के बिना रखा गया। इन चारों पर नस्लीय भेदभाव, उकसाने और संचार नेटवर्क का दुरुपयोग करने के खिलाफ कानूनों के तहत आरोप लगाए गए थे।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें