Saturday, November 27, 2021

गाज़ा में हुई हिंसा को लेकर UN सुरक्षा परिषद् की आपातकाल बैठक

- Advertisement -

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने 2014 के युद्ध के बाद से सोमवार को जेरूसलम में यूएस एम्बेसी के उद्घाटन के दौरान इजराइली सैनिकों द्वारा किया गया हमला अब तक का सबसे घातक हमला माना जा रहा है. इस तरह जेरूसलम में यूएस एम्बेसी को खोलने का जश्न मनाया जा रहा था दूसरी तरह गाजा बॉर्डर पर बेगुनाह और मासूम फिलिस्तीनियों का खून बह रहा था.

अरब न्यूज़ के मुताबिक, इजरायल और गाजा पट्टी के बीच की सीमा के साथ हिंसा पर चर्चा के लिए मंगलवार को UN सुरक्षा परिषद् में आपातकाल बैठक का आयोजन किया जाएगा. सभी मुस्लिम देशों ने यूनाइटेड नेशन से आग्रह किया है कि वह इजराइल के खिलाफ गाजा में फिलिस्तीनियों की बेरहमी से मौत करने पर सख्त से सख्त कार्यवाही की है.

कोहराम न्यूज़ को मिली जानकारी के मुताबिक,  कुवैत ने सत्र में कहा गया है कि, 50 से अधिक फिलिस्तीनियों की मौत हो गई और सोमवार को बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन के दौरान इज़राइली बंदूकधारी ने 2,200 से ज्यादा घायल हो गए. इज़राइल ने कहा कि इसकी सेनाएं अपनी सीमा का बचाव कर रही हैं और विरोध प्रदर्शन के तहत हमला करने की कोशिश करने के लिए हमास के आतंकवादियों पर आरोप लगाया गया है.

SOURCE: ARAB NEWS

कुवैत का UN से इजराइल के खिलाफ कार्यवाही का आग्रह

कुवैत के सुरक्षा परिषद के एक स्थायी सदस्य ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से इजराईल के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही के लिए आपातकालीन बैठक का अनुरोध किया. कुवैत का UN से आग्रह करने का फैसला सोमवार को इजरायली सेना के गाजा में विरोध प्रदर्शन के दौरान दर्जनों फिलिस्तीनियों की हत्या करने के खिलाफ संज्ञान लेने की बात पर जोर दिया है.

अरब न्यूज़ के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र के कुवैती राजदूत मंसूर अल-ओतैबी ने पत्रकारों से कहा, “फिलिस्तीन में जो भी हो रहा हम उनकी निंदा करते है.” “अब हम देखेंगे कि UN सुरक्षा परिषद क्या करेगी.” वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया को मिली जानकारी के मुताबिक, उन्होंने कहा कि वह संयुक्त राष्ट्र में अरब समूह और विश्व निकाय के फिलिस्तीनी राजदूत के साथ परामर्श कर रहे है.

 

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles